Uttarakhand: जंगलों में लगी आग से निबटने के लिए वन विभाग की तैयारी, जिला प्रशासन और राजस्व विभाग के साथ मिलकर करेंगे काम

Uttarakhand: उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग को बुझाने को लेकर वन विभाग अभी भी जूझता हुआ नजर आ रहा है. हालत ये है कि जंगलों में लगी आग पर काबू पाने में ही विभाग की हालत खराब हो जाती है, ऐसे में वन विभाग ने अब जिला प्रशासन और राजस्व विभाग से मदद की गुहार लगाई है ताकि वन विभाग के अधिकारी इन विभागों के साथ समन्वय बिठाकर काम कर सके. वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि ये पहली बार हो रहा है कि जंगल में लगी आग को बुझाने के लिए जिला प्रशासन और राजस्व विभाग की मदद ली जा रही है.  वन मंत्री सुबोध उनियाल ने दी ये जानकारी जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि वन विभाग में मैन पावर की कमी को देखते हुए ये फैसला लिया गया है कि आग को बुझाने के लिए जिला प्रशासन और राजस्व विभाग की सहायता ली जा रही है. उन्होंने कहा कि इस तरह का फैसला पहली बार लिया गया है. सुबोध उनियाल ने कहा कि सरकार के स्तर पर ये निर्णय लिया गया है कि जंगलों की आग की घटनाओं को रोकने के लिए अब जिला अधिकारी भी आपदा मद से भी इसके लिए फंड जारी कर सकते हैं.  जंगल की आग पर काबू करने का प्लान वन मंत्री सुबोध उनियाल ने ये भी बताया कि गढ़वाल मंडल में टिहरी उत्तरकाशी और कुमाऊं मंडल में नैनीताल, बागेश्वर जैसे जनपद जंगलों की आग से ज्यादा जूझते हुए नजर आ रहे हैं इसलिए अब विभाग ने नए एक्शन प्लान के तहत वनअग्नि की घटनाओं से कम प्रभावित रेंज के रेंजर अधिकारियों को भी प्रभावित राज्यों में नियुक्त करने का निर्णय लिया है ताकि ज्यादा बेहतर तरीके से काम हो सके और जंगलों में लगी आग पर काबू पाया जा सके.  ये भी पढ़ें- UP News: 30 अप्रैल से पहले हर जिले में बंद होगा अवैध टैक्सी, ऑटो और बस स्टैंड, सरकार ने जारी किया आदेश   UP: अब स्मार्ट सिटी की तर्ज पर बनेंगे स्मार्ट गांव, जालौन में CM योगी ने की 1100 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की शुरुआत

Uttarakhand: जंगलों में लगी आग से निबटने के लिए वन विभाग की तैयारी, जिला प्रशासन और राजस्व विभाग के साथ मिलकर करेंगे काम

Uttarakhand: उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग को बुझाने को लेकर वन विभाग अभी भी जूझता हुआ नजर आ रहा है. हालत ये है कि जंगलों में लगी आग पर काबू पाने में ही विभाग की हालत खराब हो जाती है, ऐसे में वन विभाग ने अब जिला प्रशासन और राजस्व विभाग से मदद की गुहार लगाई है ताकि वन विभाग के अधिकारी इन विभागों के साथ समन्वय बिठाकर काम कर सके. वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि ये पहली बार हो रहा है कि जंगल में लगी आग को बुझाने के लिए जिला प्रशासन और राजस्व विभाग की मदद ली जा रही है. 

वन मंत्री सुबोध उनियाल ने दी ये जानकारी

जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि वन विभाग में मैन पावर की कमी को देखते हुए ये फैसला लिया गया है कि आग को बुझाने के लिए जिला प्रशासन और राजस्व विभाग की सहायता ली जा रही है. उन्होंने कहा कि इस तरह का फैसला पहली बार लिया गया है. सुबोध उनियाल ने कहा कि सरकार के स्तर पर ये निर्णय लिया गया है कि जंगलों की आग की घटनाओं को रोकने के लिए अब जिला अधिकारी भी आपदा मद से भी इसके लिए फंड जारी कर सकते हैं. 

जंगल की आग पर काबू करने का प्लान

वन मंत्री सुबोध उनियाल ने ये भी बताया कि गढ़वाल मंडल में टिहरी उत्तरकाशी और कुमाऊं मंडल में नैनीताल, बागेश्वर जैसे जनपद जंगलों की आग से ज्यादा जूझते हुए नजर आ रहे हैं इसलिए अब विभाग ने नए एक्शन प्लान के तहत वनअग्नि की घटनाओं से कम प्रभावित रेंज के रेंजर अधिकारियों को भी प्रभावित राज्यों में नियुक्त करने का निर्णय लिया है ताकि ज्यादा बेहतर तरीके से काम हो सके और जंगलों में लगी आग पर काबू पाया जा सके. 

ये भी पढ़ें-