UP: पंचायती राज दिवस पर PM मोदी के संबोधन पर सांसद मेनका गांधी ने दी प्रतिक्रिया, जानें- क्या कहा?

Sultanpur News: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में प्रधानमंत्री के पंचायती राज दिवस (Panchayati Raj Day) पर सीधा प्रसारण सुल्तानपुर के गुप्तारगंज कस्बे में देखा गया. इस दौरान ग्रामीणों, पंचायत प्रतिनिधियों और विकास अधिकारियों के साथ क्षेत्रीय सांसद मेनका गांधी (Menka Gandhi) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) के संबोधन को सुना. केंद्र सरकार के द्वारा निरंतर पंचायतों के सशक्तिकरण के कदम को पंचायत प्रतिनिधियों ने सराहा है. कौन-कौन रहा मौजूद?बिना किसी हस्तक्षेप के गांव के विकास के लिए प्रस्तावित योजनाओं के संचालन के लिए बड़े बजट की स्वीकृति हो रही है. पंचायती राज दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी रवीश कुमार गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स, खंड विकास अधिकारी, जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य समेत बड़ी संख्या में ग्राम पंचायत सदस्य भी मौजूद थे. श्रीमती गांधी ने इसके उपरांत लंभुआ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत सकरसी समेत सात ग्राम पंचायतों में चौपाल के माध्यम से जन समस्याओं का निस्तारण किया. Basti Crime News: बस्ती में कपड़ा व्यापारी के बेटे के अपहरण से मचा हड़कंप, बदमाशों ने की 50 लाख रुपये की फिरौती की मांग क्या बोलीं सांसद?सांसद मेनका संजय गांधी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि विकास कार्यों के संचालन के लिए विकास की सबसे ऊपर की कड़ी प्रधानमंत्री की सबसे नीचे की कड़ी ग्राम प्रधान से संवाद स्थापित होना एक सराहनीय कदम है. श्रीमती गांधी ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के आपसी समन्वय से विकास कार्यों में तेजी के साथ-साथ पारदर्शिता भी आएगी. श्रीमती गांधी ने कहा कि ग्रामीण लोगों को प्रशिक्षित खेती के माध्यम से कृषि विज्ञान केंद्रों को युवाओं को सख्त करना होगा. श्रीमती गांधी ने पंचायती राज दिवस पर बोलते हुए कहा कि सभी पंचायत प्रतिनिधियों का प्रशिक्षित होना अनिवार्य है, क्योंकि विकास कार्यों के क्रियान्वयन में इस की बेहद जरूरत पड़ती है. श्रीमती गांधी ने कहा कि ग्राम प्रधानों को छोटे-छोटे विवादों को अपने गांव में ही निपटा लेना चाहिए. राजस्व कर्मियों और पुलिस पर निर्भर होना ठीक बात नहीं है. ये भी पढ़ें- BJP सांसद साक्षी महाराज बोले- 'पुलिस बचाने नहीं आएगी', 'कोल्ड-ड्रिंक की बोतलें और तीरकमान घर में रखने' की दी सलाह

UP: पंचायती राज दिवस पर PM मोदी के संबोधन पर सांसद मेनका गांधी ने दी प्रतिक्रिया, जानें- क्या कहा?

Sultanpur News: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में प्रधानमंत्री के पंचायती राज दिवस (Panchayati Raj Day) पर सीधा प्रसारण सुल्तानपुर के गुप्तारगंज कस्बे में देखा गया. इस दौरान ग्रामीणों, पंचायत प्रतिनिधियों और विकास अधिकारियों के साथ क्षेत्रीय सांसद मेनका गांधी (Menka Gandhi) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) के संबोधन को सुना. केंद्र सरकार के द्वारा निरंतर पंचायतों के सशक्तिकरण के कदम को पंचायत प्रतिनिधियों ने सराहा है.

कौन-कौन रहा मौजूद?
बिना किसी हस्तक्षेप के गांव के विकास के लिए प्रस्तावित योजनाओं के संचालन के लिए बड़े बजट की स्वीकृति हो रही है. पंचायती राज दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी रवीश कुमार गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स, खंड विकास अधिकारी, जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य समेत बड़ी संख्या में ग्राम पंचायत सदस्य भी मौजूद थे. श्रीमती गांधी ने इसके उपरांत लंभुआ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत सकरसी समेत सात ग्राम पंचायतों में चौपाल के माध्यम से जन समस्याओं का निस्तारण किया.

Basti Crime News: बस्ती में कपड़ा व्यापारी के बेटे के अपहरण से मचा हड़कंप, बदमाशों ने की 50 लाख रुपये की फिरौती की मांग

क्या बोलीं सांसद?
सांसद मेनका संजय गांधी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि विकास कार्यों के संचालन के लिए विकास की सबसे ऊपर की कड़ी प्रधानमंत्री की सबसे नीचे की कड़ी ग्राम प्रधान से संवाद स्थापित होना एक सराहनीय कदम है. श्रीमती गांधी ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के आपसी समन्वय से विकास कार्यों में तेजी के साथ-साथ पारदर्शिता भी आएगी. श्रीमती गांधी ने कहा कि ग्रामीण लोगों को प्रशिक्षित खेती के माध्यम से कृषि विज्ञान केंद्रों को युवाओं को सख्त करना होगा. श्रीमती गांधी ने पंचायती राज दिवस पर बोलते हुए कहा कि सभी पंचायत प्रतिनिधियों का प्रशिक्षित होना अनिवार्य है, क्योंकि विकास कार्यों के क्रियान्वयन में इस की बेहद जरूरत पड़ती है. श्रीमती गांधी ने कहा कि ग्राम प्रधानों को छोटे-छोटे विवादों को अपने गांव में ही निपटा लेना चाहिए. राजस्व कर्मियों और पुलिस पर निर्भर होना ठीक बात नहीं है.

ये भी पढ़ें-

BJP सांसद साक्षी महाराज बोले- 'पुलिस बचाने नहीं आएगी', 'कोल्ड-ड्रिंक की बोतलें और तीरकमान घर में रखने' की दी सलाह