Relationship Tips: काबिलियत के बाद भी शादी के लिए आज भी लड़कियां इन वजहों से कर दी जाती हैं रिजेक्ट, जानें

Relationship Advice:  मॉर्डन होती सोसायटी में आज जहां लड़कियां दुनिया में अपने दम पर नाम रोशन कर रही हैं. वहीं आज भी शादी के लिए जब लड़की चुननी हो तो पुरानी सोच हावी रखते हैं. खासतौर से अरेंज्ड मैरिज में काबिल होने के बाद भी लड़कियों का रिश्ता टूट जाते हैं. जिससे कई बार लड़कियां आहत होती है. आज भी न्यूज पेपप में मैट्रिमोनियल वेबासाइट्स पर लड़की की लंबी लिस्ट आपको देखने को मिल जाएगी.  रंग आपको देखने को यह अक्सर मिलेगा की ज्यादा तर मैट्रिमोनियल और न्यूज पेपर में एक चीज समान देखने को मिलेगा जिसमें रंग गोरा या फिर फेयर स्किन वाली बहु चाहिए होती है. ऐसे में कई बार लड़की पढ़ी-लिखी होने के बाद भी रंग सांवला कह कर पसंद नहीं किया जाता है. स्किन कलर को लेकर इसी अब्सेशन के चलते इंडिया में फेयरनेस बढ़ाने के प्रॉडक्ट्स की बिक्री बड़ी मात्रा में होती है.  वजनलड़की थोड़ी हेल्दी हो तो उसका रिश्ता रिजेक्ट कर दिया जाता है, क्योंकि परिवार को गोरी और लड़के को स्लिम फिगर वाली पत्नी चाहिए होती है. इतना ही नहीं, अगर लड़की ज्यादा दुबली हो, तो भी उसे शादी के लिए रिजेक्शन का सामना करना पड़ता है. हैरानी तो ये है कि रिश्ता ठुकराने वाले इनमें से ज्यादातर वो लड़के होते हैं, जो खुद वेट के मामले में फिट की कैटगरी में नहीं आते हैं.  लड़के से ज्यादा काबिल होना यह सच है कि आज भी ऐसे रिश्तों को अस्वीकार कर दिया जाता है, जिनमें लड़की लड़के से ज्यादा कमाती या पढ़ी-लिखी है. तो ऐसी लड़की से लोग शादी करने से बचते हैं. कई ऐसी स्टडीज भी है जिसमें यह दावा किया गया है कि पत्नी की सैलरी ज्यादा होने पर पति स्ट्रेस में चला जाता है और कई यह रिश्ते टिकते नही है.  ऐज फैक्टर अभी भी लोगों के बीच ऐज फैक्टर बड़ी बात  है. 30 से अधिक उम्र की लड़कियों से लोग शादी करने से हिचकिचाते हैं. यह स्थिति तब है, जब इंडियन सोसायटी में बड़े उम्र के लड़के के साथ यंग लड़की की शादी को बहुत ही नॉर्मल माना जाता है.  Relationship Tips: सफल शादीशुदा रिलेशनशिप के जानें राज, ये बातें बताती हैं कि रिश्ता कितना मजबूत है

Relationship Tips: काबिलियत के बाद भी शादी के लिए आज भी लड़कियां इन वजहों से कर दी जाती हैं रिजेक्ट, जानें

Relationship Advice:  मॉर्डन होती सोसायटी में आज जहां लड़कियां दुनिया में अपने दम पर नाम रोशन कर रही हैं. वहीं आज भी शादी के लिए जब लड़की चुननी हो तो पुरानी सोच हावी रखते हैं. खासतौर से अरेंज्ड मैरिज में काबिल होने के बाद भी लड़कियों का रिश्ता टूट जाते हैं. जिससे कई बार लड़कियां आहत होती है. आज भी न्यूज पेपप में मैट्रिमोनियल वेबासाइट्स पर लड़की की लंबी लिस्ट आपको देखने को मिल जाएगी. 

रंग 
आपको देखने को यह अक्सर मिलेगा की ज्यादा तर मैट्रिमोनियल और न्यूज पेपर में एक चीज समान देखने को मिलेगा जिसमें रंग गोरा या फिर फेयर स्किन वाली बहु चाहिए होती है. ऐसे में कई बार लड़की पढ़ी-लिखी होने के बाद भी रंग सांवला कह कर पसंद नहीं किया जाता है. स्किन कलर को लेकर इसी अब्सेशन के चलते इंडिया में फेयरनेस बढ़ाने के प्रॉडक्ट्स की बिक्री बड़ी मात्रा में होती है. 

वजन
लड़की थोड़ी हेल्दी हो तो उसका रिश्ता रिजेक्ट कर दिया जाता है, क्योंकि परिवार को गोरी और लड़के को स्लिम फिगर वाली पत्नी चाहिए होती है. इतना ही नहीं, अगर लड़की ज्यादा दुबली हो, तो भी उसे शादी के लिए रिजेक्शन का सामना करना पड़ता है. हैरानी तो ये है कि रिश्ता ठुकराने वाले इनमें से ज्यादातर वो लड़के होते हैं, जो खुद वेट के मामले में फिट की कैटगरी में नहीं आते हैं. 

लड़के से ज्यादा काबिल होना 
यह सच है कि आज भी ऐसे रिश्तों को अस्वीकार कर दिया जाता है, जिनमें लड़की लड़के से ज्यादा कमाती या पढ़ी-लिखी है. तो ऐसी लड़की से लोग शादी करने से बचते हैं. कई ऐसी स्टडीज भी है जिसमें यह दावा किया गया है कि पत्नी की सैलरी ज्यादा होने पर पति स्ट्रेस में चला जाता है और कई यह रिश्ते टिकते नही है. 

ऐज फैक्टर 
अभी भी लोगों के बीच ऐज फैक्टर बड़ी बात  है. 30 से अधिक उम्र की लड़कियों से लोग शादी करने से हिचकिचाते हैं. यह स्थिति तब है, जब इंडियन सोसायटी में बड़े उम्र के लड़के के साथ यंग लड़की की शादी को बहुत ही नॉर्मल माना जाता है. 

Relationship Tips: सफल शादीशुदा रिलेशनशिप के जानें राज, ये बातें बताती हैं कि रिश्ता कितना मजबूत है