Navneet Rana Vs Shiv Sena: नवनीत राणा के मामले में कैसे हुई डी कंपनी की एंट्री?

नवनीत राणा (Navneet Rana) बनाम उद्धव ठाकरे विवाद में अब डी कंपनी की एंट्री हो चुकी है. अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का नाम इस पूरे मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) के मार्फत आया. राउत ने आरोप लगाया कि नवनीत राणा ने यूसुफ लकड़ावाला नाम के शख्स से 80 लाख रुपये लिए थे. राउत के मुताबिक यूसुफ लकड़ावाला दाऊद का आदमी था. नवनीत राना फिलहाल मुंबई की भायखला जेल में है लेकिन जेल के बाहर उनके नाम से विवाद पर विवाद जोड़े जा रहे हैं. ताजा विवाद है उन पर लगे डी कंपनी से रिश्तों को लेकर. शिवसेना सांसद संजय राउत ने राणा के चुनावी हलफनामे के आधार पर दावा किया कि उन्होंने कथित तौर पर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के लिए काम करने वाले यूसुफ लकड़ावाला 80 लाख रुपए लिए. मुंबई में यूसुफ लकड़ावाला के नाम से जो शख्स मशहूर था उसकी मौत पिछले साल हो गई थी. यूसुफ लकड़ावाला मुंबई के मशहूर बिल्डर थे. उन्होंने शहर में कई रिहायशी इमारतों का निर्माण किया था. इसके अलावा वे फ़िल्म फाइनेंस का काम भी करते थे. वो मुम्बई के दो सिनेमाघरों और हिल स्टेशन महाबलेश्वर के एक रिसोर्ट के मालिक थे. साल 2019 में यूसुफ लकड़ावाला की गिरफ्तारी हुई. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई के पास खंडाला में एक जमीन से जुड़े लेनदेन के मामले और मनी लांड्रिंग के आरोप में उसे गिरफ्तार किया गया था. इस बीच वह कैंसर से ग्रसित हो गए. आर्थर रोड जेल के अस्पताल में उनका इलाज किया गया लेकिन 21 तारीख को उन्होंने दम तोड़ दिया. जाहिर है अपने ऊपर लगे इस संगीन आरोप पर सफाई देने के लिए नवनीत राणा सामने नहीं आ पा रही हैं क्योंकि वे सलाखों के पीछे हैं. उनके वकील की तरफ से भी कोई बयान नहीं आया है लेकिन उनके बचाव में बीजेपी के नेता मोहित कंबोज आ गए. कंबोज ने कई सारे तस्वीरें ट्वीट की जिनमें यूसुफ लकड़ावाला महाराष्ट्र और देश की कई नामी-गिरामी हस्तियों के साथ नजर आ रहे हैं जिनमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख और वकील मजीद मेमन शामिल हैं. मोहित कंबोज ने बताया कि जिस 80 लाख रुपए की बात संजय राउत कर रहे हैं दरअसल वो लेन देन एक घर के सौदे को लेकर हुआ था जोकि राणा दंपत्ति ने यूसुफ लकड़ावाला से खरीदा. कंबोज के मुताबिक, संजय राउत खुद भी यूसुफ लकड़ावाला के दोस्त रह चुके हैं. इस सिलसिले में यूसुफ लकड़ावाला के परिवार से बातचीत करने की कोशिश एबीपी न्यूज़ ने की लेकिन परिवार की ओर से बताया गया कि वह राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के पचड़े में नहीं पड़ना चाहते. मुंबई में यूसुफ लकड़ावाला के अलावा एक और लकड़ावाला चर्चित रहा है जिसका नाम है एजाज यूसुफ लकड़ावाला. एजाज लाकड़ावाला एक गैंगस्टर है. पहले वह दाऊद गिरोह के लिए काम करता था और फिर छोटा राजन गिरोह के लिए काम करने लगा और फिर अपनी इंडिपेंडेंट गैंग चलाने लगा. सियासी हलकों में चर्चा है कि कहीं संजय राउत कंफ्यूज तो नहीं हो गए और उन्होंने एक कहानी में दोनों लकड़ावाला को जोड़ दिया. UPSC Topper Of Jammu Kashmir: पहले यूपीएससी टॉपर शाह फैसल दोबारा नौकरशाही में रखेंगे कदम, वापसी के दिए संकेत

Navneet Rana Vs Shiv Sena: नवनीत राणा के मामले में कैसे हुई डी कंपनी की एंट्री?

नवनीत राणा (Navneet Rana) बनाम उद्धव ठाकरे विवाद में अब डी कंपनी की एंट्री हो चुकी है. अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का नाम इस पूरे मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) के मार्फत आया. राउत ने आरोप लगाया कि नवनीत राणा ने यूसुफ लकड़ावाला नाम के शख्स से 80 लाख रुपये लिए थे. राउत के मुताबिक यूसुफ लकड़ावाला दाऊद का आदमी था.

नवनीत राना फिलहाल मुंबई की भायखला जेल में है लेकिन जेल के बाहर उनके नाम से विवाद पर विवाद जोड़े जा रहे हैं. ताजा विवाद है उन पर लगे डी कंपनी से रिश्तों को लेकर. शिवसेना सांसद संजय राउत ने राणा के चुनावी हलफनामे के आधार पर दावा किया कि उन्होंने कथित तौर पर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के लिए काम करने वाले यूसुफ लकड़ावाला 80 लाख रुपए लिए.

मुंबई में यूसुफ लकड़ावाला के नाम से जो शख्स मशहूर था उसकी मौत पिछले साल हो गई थी. यूसुफ लकड़ावाला मुंबई के मशहूर बिल्डर थे. उन्होंने शहर में कई रिहायशी इमारतों का निर्माण किया था. इसके अलावा वे फ़िल्म फाइनेंस का काम भी करते थे. वो मुम्बई के दो सिनेमाघरों और हिल स्टेशन महाबलेश्वर के एक रिसोर्ट के मालिक थे.

साल 2019 में यूसुफ लकड़ावाला की गिरफ्तारी हुई. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई के पास खंडाला में एक जमीन से जुड़े लेनदेन के मामले और मनी लांड्रिंग के आरोप में उसे गिरफ्तार किया गया था. इस बीच वह कैंसर से ग्रसित हो गए. आर्थर रोड जेल के अस्पताल में उनका इलाज किया गया लेकिन 21 तारीख को उन्होंने दम तोड़ दिया.

जाहिर है अपने ऊपर लगे इस संगीन आरोप पर सफाई देने के लिए नवनीत राणा सामने नहीं आ पा रही हैं क्योंकि वे सलाखों के पीछे हैं. उनके वकील की तरफ से भी कोई बयान नहीं आया है लेकिन उनके बचाव में बीजेपी के नेता मोहित कंबोज आ गए.

कंबोज ने कई सारे तस्वीरें ट्वीट की जिनमें यूसुफ लकड़ावाला महाराष्ट्र और देश की कई नामी-गिरामी हस्तियों के साथ नजर आ रहे हैं जिनमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख और वकील मजीद मेमन शामिल हैं. मोहित कंबोज ने बताया कि जिस 80 लाख रुपए की बात संजय राउत कर रहे हैं दरअसल वो लेन देन एक घर के सौदे को लेकर हुआ था जोकि राणा दंपत्ति ने यूसुफ लकड़ावाला से खरीदा. कंबोज के मुताबिक, संजय राउत खुद भी यूसुफ लकड़ावाला के दोस्त रह चुके हैं.

इस सिलसिले में यूसुफ लकड़ावाला के परिवार से बातचीत करने की कोशिश एबीपी न्यूज़ ने की लेकिन परिवार की ओर से बताया गया कि वह राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के पचड़े में नहीं पड़ना चाहते.

मुंबई में यूसुफ लकड़ावाला के अलावा एक और लकड़ावाला चर्चित रहा है जिसका नाम है एजाज यूसुफ लकड़ावाला. एजाज लाकड़ावाला एक गैंगस्टर है. पहले वह दाऊद गिरोह के लिए काम करता था और फिर छोटा राजन गिरोह के लिए काम करने लगा और फिर अपनी इंडिपेंडेंट गैंग चलाने लगा. सियासी हलकों में चर्चा है कि कहीं संजय राउत कंफ्यूज तो नहीं हो गए और उन्होंने एक कहानी में दोनों लकड़ावाला को जोड़ दिया.

UPSC Topper Of Jammu Kashmir: पहले यूपीएससी टॉपर शाह फैसल दोबारा नौकरशाही में रखेंगे कदम, वापसी के दिए संकेत