Madhya Pradesh: मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के मैप में शामिल हुआ राम मंदिर, 19 अप्रैल से शुरू होगी यात्रा

मध्यप्रदेश सरकार ने धार्मिक न्यास व धर्मस्व विभाग के अंतर्गत संचालित मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के मैप में तीन नए तीर्थस्थल को शामिल किया गया है. गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के कारण दो साल से बंद यह योजना 19 अप्रैल से पुनः शुरू हो रही है. पहली यात्रा काशी-विश्वनाथ दर्शन की होगी. यह ट्रेन भोपाल के रानी कमलापति स्टेशन से रवाना होगी.  बता दें, अभी तक इस योजना में तीर्थों के अंतर्गत कुल 33 तीर्थस्थल शामिल थे लेकिन अब इसमें उत्तर प्रदेश में रामजन्म भूमि स्थान अयोध्या और राजस्थान के दौसा जिले के मण्डावरी को भी शामिल कर लिया गया है. इसी प्रकार, युग्म तीर्थस्थल यानि एक तीर्थस्थल के पास दूसरे तीर्थस्थल की यात्रा के अंतर्गत अब तक सात युग्म तीर्थस्थल यथा रामेश्वरम मदुरई, तिरुपति-श्रीकालहस्ती, द्वारका-सोमनाथ, पुरी-गंगासागर, ऋषिकेश, अमृतसर-वैष्णोदेवी और काशी-गया शामिल थे. अब इसमें आठवां काशी-अयोध्या भी शामिल कर लिया गया है. भजन मंडली भी जाएगी आपको बता दें कि कोविड काल के दो साल बाद राज्य सरकार पात्र हितग्राहियों को 19 से 22 अप्रैल तक काशी-विश्वनाथ, 22 से 28 अप्रैल तक द्वारका-सोमनाथ व 23 से 29 अप्रैल तक वैष्णोदेवी की यात्रा कराएगी. धार्मिक न्यास और धर्मस्व मंत्री उषा ठाकुर भी 19 अप्रैल को काशी विश्वनाथ तीर्थयात्रा में यात्रियों के साथ ट्रेन यात्रा में शामिल होंगी. इस ट्रेन में भजन मंडली भी जाएगी जो सुबह-शाम यात्रियों को भजन सुनाएगी. यह भी पढ़ें. UP MLC Election 2022: यूपी में कल होगा एमएलसी का चुनाव, पोलिंग पार्टियां हुई रवाना, तैयारियां पूरी Unnao: जिला सूचना विभाग में शराब पीकर महिलाकर्मी से छेड़छाड़, उपनिदेशक समेत सभी पुरुषकर्मियों पर केस दर्ज

Madhya Pradesh: मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के मैप में शामिल हुआ राम मंदिर, 19 अप्रैल से शुरू होगी यात्रा

मध्यप्रदेश सरकार ने धार्मिक न्यास व धर्मस्व विभाग के अंतर्गत संचालित मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के मैप में तीन नए तीर्थस्थल को शामिल किया गया है. गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के कारण दो साल से बंद यह योजना 19 अप्रैल से पुनः शुरू हो रही है. पहली यात्रा काशी-विश्वनाथ दर्शन की होगी. यह ट्रेन भोपाल के रानी कमलापति स्टेशन से रवाना होगी.

 बता दें, अभी तक इस योजना में तीर्थों के अंतर्गत कुल 33 तीर्थस्थल शामिल थे लेकिन अब इसमें उत्तर प्रदेश में रामजन्म भूमि स्थान अयोध्या और राजस्थान के दौसा जिले के मण्डावरी को भी शामिल कर लिया गया है. इसी प्रकार, युग्म तीर्थस्थल यानि एक तीर्थस्थल के पास दूसरे तीर्थस्थल की यात्रा के अंतर्गत अब तक सात युग्म तीर्थस्थल यथा रामेश्वरम मदुरई, तिरुपति-श्रीकालहस्ती, द्वारका-सोमनाथ, पुरी-गंगासागर, ऋषिकेश, अमृतसर-वैष्णोदेवी और काशी-गया शामिल थे. अब इसमें आठवां काशी-अयोध्या भी शामिल कर लिया गया है.

भजन मंडली भी जाएगी

आपको बता दें कि कोविड काल के दो साल बाद राज्य सरकार पात्र हितग्राहियों को 19 से 22 अप्रैल तक काशी-विश्वनाथ, 22 से 28 अप्रैल तक द्वारका-सोमनाथ व 23 से 29 अप्रैल तक वैष्णोदेवी की यात्रा कराएगी. धार्मिक न्यास और धर्मस्व मंत्री उषा ठाकुर भी 19 अप्रैल को काशी विश्वनाथ तीर्थयात्रा में यात्रियों के साथ ट्रेन यात्रा में शामिल होंगी. इस ट्रेन में भजन मंडली भी जाएगी जो सुबह-शाम यात्रियों को भजन सुनाएगी.

यह भी पढ़ें.

UP MLC Election 2022: यूपी में कल होगा एमएलसी का चुनाव, पोलिंग पार्टियां हुई रवाना, तैयारियां पूरी

Unnao: जिला सूचना विभाग में शराब पीकर महिलाकर्मी से छेड़छाड़, उपनिदेशक समेत सभी पुरुषकर्मियों पर केस दर्ज