Khargone Violence: खरगोन हिंसा में पुलिस ने तेज की कार्रवाई, इबरिस खान मौत मामले में 5 आरोपी गिरफ्तार

Khargone Violence: मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा में एक व्यक्ति की हत्या के मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दरअसल रामनवमी के दिन हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान पुलिस को आनंद नगर में अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी. मरने वाले का नाम इबरिस खान बताया गया.  रिपोर्ट की माने तो पांच लोगों की गिरफ्तारी के बाद जश्मदीदों ने पुष्टि की है कि 10 अप्रैल की रात आनंद नगर-कपास मंडी इलाके में इबरिस खान पर हमला करने वालों में ये लोग भी शामिल थे.  क्या है मामला दरअसल खरगोन में नगर निगम का 30 साल का कर्मचारी इबरिस खान 10 अप्रैल की हिंसा के बाद से लापता था. जिसके बाद 14 अप्रैल को उसके लापता होने का मामला दर्ज करवाया गया. पुलिस द्वारा छानबीन करने पर इबरिस का शव आठ दिन बाद खरगोन से करीब 120 किलोमीटर दूर इंदौर के एक मुर्दाघर में मिला था. स्थानीय पुलिस की माने तो हिंसा की रात सात-आठ लोगों ने इबरिस खान की हत्या कर दी थी. पुलिस ने कहा कि अगले दिन मिला शव अज्ञात रह गया था और खरगोन में फ्रीजर की सुविधा नहीं होने के कारण इंदौर के मुर्दाघर भेज दिया गया था. इस मामले में इबरिस के परिवार का आरोप है कि पुलिस ने उसकी हत्या को छिपाने की कोशिश की. वहीं इबरिस खान के भाई इखलाक खान ने पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि उनके भाई को आखिरी बार खरगोन पुलिस थाने में 10 अप्रैल की शाम को पुलिस हिरासत में देखा गया था. इबरिस के परिवारवालों ने पुलिस पर लगाया आरोप इबरिस के भाई ने पत्रकारों से बात करते हुए आरोप लगाया कि हिंसा वाली रात आनंद नगर में लोगों ने मेरे भाई पर हथियारों से हमला किया और उसका सिर पत्थर से कुचल दिया गया. उन्होंने कहा कि पुलिस ने मीडिया में जाने की धमकी देने के बाद ही परिवार को सूचित किया. बता दें कि फिलहाल मध्य प्रदेश सरकार रामनवमी के दिन हुए हिंसा में शामिल आरोपियों को पकड़ने में लगी है. इस मामले में फरार 106 आरोपियों पर 10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया है. पुलिस की माने तो हिंसा के मामले में कुल 63 FIR दर्ज हुई हैं और इनके तहत 265 को आरोपी बनाया गया है.  ये भी पढ़ें: Jammu Kashmir News: बीजेपी का संविधान पर चला बुलडोजर अब अल्पसंख्यकों के घरों तक पहुंच गया है- महबूबा मुफ्ती J&K Sarkari Naukri: जम्मू कश्मीर लोक सेवा आयोग ने जारी किया सिविल सेवा प्री परीक्षा का शेड्यूल, भरे जाएंगे 220 पद, जानिए जरूरी तारीखें

Khargone Violence: खरगोन हिंसा में पुलिस ने तेज की कार्रवाई, इबरिस खान मौत मामले में 5 आरोपी गिरफ्तार

Khargone Violence: मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा में एक व्यक्ति की हत्या के मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दरअसल रामनवमी के दिन हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान पुलिस को आनंद नगर में अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी. मरने वाले का नाम इबरिस खान बताया गया. 

रिपोर्ट की माने तो पांच लोगों की गिरफ्तारी के बाद जश्मदीदों ने पुष्टि की है कि 10 अप्रैल की रात आनंद नगर-कपास मंडी इलाके में इबरिस खान पर हमला करने वालों में ये लोग भी शामिल थे. 

क्या है मामला

दरअसल खरगोन में नगर निगम का 30 साल का कर्मचारी इबरिस खान 10 अप्रैल की हिंसा के बाद से लापता था. जिसके बाद 14 अप्रैल को उसके लापता होने का मामला दर्ज करवाया गया. पुलिस द्वारा छानबीन करने पर इबरिस का शव आठ दिन बाद खरगोन से करीब 120 किलोमीटर दूर इंदौर के एक मुर्दाघर में मिला था. स्थानीय पुलिस की माने तो हिंसा की रात सात-आठ लोगों ने इबरिस खान की हत्या कर दी थी. पुलिस ने कहा कि अगले दिन मिला शव अज्ञात रह गया था और खरगोन में फ्रीजर की सुविधा नहीं होने के कारण इंदौर के मुर्दाघर भेज दिया गया था.

इस मामले में इबरिस के परिवार का आरोप है कि पुलिस ने उसकी हत्या को छिपाने की कोशिश की. वहीं इबरिस खान के भाई इखलाक खान ने पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि उनके भाई को आखिरी बार खरगोन पुलिस थाने में 10 अप्रैल की शाम को पुलिस हिरासत में देखा गया था.

इबरिस के परिवारवालों ने पुलिस पर लगाया आरोप

इबरिस के भाई ने पत्रकारों से बात करते हुए आरोप लगाया कि हिंसा वाली रात आनंद नगर में लोगों ने मेरे भाई पर हथियारों से हमला किया और उसका सिर पत्थर से कुचल दिया गया. उन्होंने कहा कि पुलिस ने मीडिया में जाने की धमकी देने के बाद ही परिवार को सूचित किया.

बता दें कि फिलहाल मध्य प्रदेश सरकार रामनवमी के दिन हुए हिंसा में शामिल आरोपियों को पकड़ने में लगी है. इस मामले में फरार 106 आरोपियों पर 10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया है. पुलिस की माने तो हिंसा के मामले में कुल 63 FIR दर्ज हुई हैं और इनके तहत 265 को आरोपी बनाया गया है. 

ये भी पढ़ें:

Jammu Kashmir News: बीजेपी का संविधान पर चला बुलडोजर अब अल्पसंख्यकों के घरों तक पहुंच गया है- महबूबा मुफ्ती

J&K Sarkari Naukri: जम्मू कश्मीर लोक सेवा आयोग ने जारी किया सिविल सेवा प्री परीक्षा का शेड्यूल, भरे जाएंगे 220 पद, जानिए जरूरी तारीखें