Jhalawar Crime News: यूट्यूब से सीखा था जाली नोट बनाने का तरीका, अब गिरोह के 4 सदस्य गिरफ्तार

Fake Note Making Gang Busted in Jhalawar: राजस्थान में झालावाड़ पुलिस की स्पेशल टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जाली नोट बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है. पुलिस टीम ने रिहायशी मकान में छापेमारी कर 46 हजार 200 रुपए के जाली नोट और 34 हजार रुपये की असली मुद्रा के साथ चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपियों ने यूट्यूब से नकली नोट बनाना सीखा था और इंक और प्रिंटर लाकर खुद ही नोट बनाने लग गए. पुलिस का मानना है कि आरोपियों से पूछताछ में और भी बड़ा खुलासा हो सकता है.  नकली नोट बनानेवाले गिरोह का भंडाफोड़ झालावाड़ एसपी मोनिका सेन ने बताया कि संगठित अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस जिले भर में अभियान चला रही है. अभियान के दौरान झालावाड़ पुलिस की जिला स्पेशल टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि जाली नोट बनाने वाला गिरोह जिले में आ रहा है. मुखबिर की सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश शर्मा के निर्देशन में DST प्रभारी विष्णु प्रसाद, भवानीमंडी थानाधिकारी महेश चारण की एक टीम गठित की गई. पुलिस की स्पेशल टीम ने भवानीमंडी कस्बे के अनंत विहार कॉलोनी स्थित एक रिहायशी मकान में दबिश दी. छापेमारी में 500 और 200 रुपए के कुल 46200 नकली जाली नोट और 34000 असली मुद्रा, कलर प्रिंटर, इंक बरामद हुए. पुलिस ने मौके पर मौजूद चार आरोपियों नरेंद्र कुमार निवासी चंदवासा (मध्य प्रदेश), संदीप कुमार निवासी पटियाला, शमी उर्फ समीर निवासी संगरूर और सौरभ उर्फ बाबू निवासी पटियाला (पंजाब) को गिरफ्तार कर लिया.  Jodhpur News: जोधपुर में पैदल यात्रियों के लिए जेब्रा लाइन का होगा फिर से निर्माण, विभाग को लिखा गया पत्र यूट्यूब से सीखा नोट बनाना, गिरोह में वांटेड भी  गिरफ्तार आरोपियों में संदीप उर्फ कल्लू पंजाब के पटियाला थाना क्षेत्र का वांटेड आरोपी है. संदीप भवानीमंडी में फर्जी आधार कार्ड बनाकर रह रहा था. एसपी मोनिका सेन ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया है कि नकली करेंसी बनाने का आइडिया यूट्यूब से सीखा. नकली करेंसी को आरोपी क्षेत्र से मादक पदार्थों की खरीद करने में इस्तेमाल करते थे. बहरहाल पुलिस को पूछताछ के दौरान और भी कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपी बड़ी मात्रा में जाली नोट को छापने की प्लानिंग कर रहे थे और मार्केट में जाली नोट को देकर ठगने की कवायद थी लेकिन पुलिस ने आरोपियों के मंसूबे को नाकाम कर दिया. Rajasthan News: राजस्थान में 10 नए पर्यटन क्षेत्र का होगा विकास, सैलानियों को मिलेंगे मनोरंजन के ये साधन

Jhalawar Crime News: यूट्यूब से सीखा था जाली नोट बनाने का तरीका, अब गिरोह के 4 सदस्य गिरफ्तार

Fake Note Making Gang Busted in Jhalawar: राजस्थान में झालावाड़ पुलिस की स्पेशल टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जाली नोट बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है. पुलिस टीम ने रिहायशी मकान में छापेमारी कर 46 हजार 200 रुपए के जाली नोट और 34 हजार रुपये की असली मुद्रा के साथ चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपियों ने यूट्यूब से नकली नोट बनाना सीखा था और इंक और प्रिंटर लाकर खुद ही नोट बनाने लग गए. पुलिस का मानना है कि आरोपियों से पूछताछ में और भी बड़ा खुलासा हो सकता है. 

नकली नोट बनानेवाले गिरोह का भंडाफोड़

झालावाड़ एसपी मोनिका सेन ने बताया कि संगठित अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस जिले भर में अभियान चला रही है. अभियान के दौरान झालावाड़ पुलिस की जिला स्पेशल टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि जाली नोट बनाने वाला गिरोह जिले में आ रहा है. मुखबिर की सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश शर्मा के निर्देशन में DST प्रभारी विष्णु प्रसाद, भवानीमंडी थानाधिकारी महेश चारण की एक टीम गठित की गई. पुलिस की स्पेशल टीम ने भवानीमंडी कस्बे के अनंत विहार कॉलोनी स्थित एक रिहायशी मकान में दबिश दी. छापेमारी में 500 और 200 रुपए के कुल 46200 नकली जाली नोट और 34000 असली मुद्रा, कलर प्रिंटर, इंक बरामद हुए. पुलिस ने मौके पर मौजूद चार आरोपियों नरेंद्र कुमार निवासी चंदवासा (मध्य प्रदेश), संदीप कुमार निवासी पटियाला, शमी उर्फ समीर निवासी संगरूर और सौरभ उर्फ बाबू निवासी पटियाला (पंजाब) को गिरफ्तार कर लिया. 

Jodhpur News: जोधपुर में पैदल यात्रियों के लिए जेब्रा लाइन का होगा फिर से निर्माण, विभाग को लिखा गया पत्र

यूट्यूब से सीखा नोट बनाना, गिरोह में वांटेड भी 

गिरफ्तार आरोपियों में संदीप उर्फ कल्लू पंजाब के पटियाला थाना क्षेत्र का वांटेड आरोपी है. संदीप भवानीमंडी में फर्जी आधार कार्ड बनाकर रह रहा था. एसपी मोनिका सेन ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया है कि नकली करेंसी बनाने का आइडिया यूट्यूब से सीखा. नकली करेंसी को आरोपी क्षेत्र से मादक पदार्थों की खरीद करने में इस्तेमाल करते थे. बहरहाल पुलिस को पूछताछ के दौरान और भी कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपी बड़ी मात्रा में जाली नोट को छापने की प्लानिंग कर रहे थे और मार्केट में जाली नोट को देकर ठगने की कवायद थी लेकिन पुलिस ने आरोपियों के मंसूबे को नाकाम कर दिया.

Rajasthan News: राजस्थान में 10 नए पर्यटन क्षेत्र का होगा विकास, सैलानियों को मिलेंगे मनोरंजन के ये साधन