Gorakhpur Triple Murder: 3 लोगों की हत्या मामले में CCTV फुटेज आने के बाद खड़ा हुआ नया सवाल, शक की सुई दूसरी तरफ घूमी

Gorakhpur triple murder case: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) में चार दिन पहले हुए ट्रिपल मर्डर केस में हत्‍या के पहले का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है. सीसीटीवी फुटेज में मृतक पति-पत्‍नी गामा निषाद और संजू निषाद और बेटी प्रीति पैदल जाते हुए दिख रहे हैं. इसके बाद सीसीटीवी में सफेद शर्ट पहना शख्स थोड़ी देर बाद उनके पीछे जाते हुए दिख रहा है. वहीं शख्‍स प्रीति से बात करते भी दिख रहा है. उस फोटो में लग रहा है कि आगे चल रहे प्रीति के माता-पिता को इसकी जानकारी है. पांचवें नंबर पर थोड़ी देर बाद हत्यारा आलोक पासवान भी हाथ में बांका लेकर उनके पीछे जाते हुए दिखाई दे रहा है. अब सवाल ये है कि वो चौथा शख्स कौन था जो हत्‍या के ठीक पहले मृतकों के साथ दिख रहा है. कई सवाल खड़े हुएगोरखपुर में 25 अप्रैल सोमवार की रात हुए ट्रिपल मर्डर पर सवाल खड़े होने लगे हैं. हत्‍या के ठीक पहले का सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद से कई सवाल खड़े हो गए हैं. मृतक गामा निषाद के दोनों बेटों ने एक से अधिक लोगों के हत्‍या में शामिल होने का शक जताया है. हालांकि पुलिस ने हत्यारोपी आलोक पासवान को घटना के बाद ही गिरफ्तार कर लिया लेकिन जो सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, उसे देखकर हत्‍या में एक ही आरोपी के शाम‍िल होने का दावा कर रही पुलिस के होश उड़ गए हैं. सीसीटीवी फुटेज में गामा निषाद, उसकी पत्‍नी संजू निषाद और बेटी प्रीति जाते हुए दिखाई दे रहे हैं. Muzaffarnagar News: मुजफ्फरनगर में दो मुस्लिम परिवारों ने की हिंदू धर्म में वापसी, हारून बने अरुण सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई दे रहा है कि 8 बजकर 27 मिनट 56 सेकेंड पर गामा निषाद 42 वर्ष, संजू 38 वर्ष और 20 वर्षीय बेटी प्रीति मांगलिक कार्यक्रम में गांव के पुश्‍तैनी मकान पर पैदल ही जाते हुए दिखाई दे रहे हैं. इसके बाद सफेद शर्ट में एक युवक 8 बजकर 28 मिनट 47 सेकेंड पर तीनों के पीछे जाते हुए दिखाई दे रहा है. इसके ठीक बाद 8 बजकर 29 मिनट 19 सेकेंड पर पीछे से हत्‍यारोपी हाथ में बांका लिए हुए जाते साफ दिखाई दे रहा है.  चौथे शख्स का पता नहींकिसी मकान की छत पर लगे सीसीटीवी फुटेज में हत्‍यारे का चेहरा तो नहीं दिख रहा है, लेकिन ये साफ है कि वो इसमें अकेले ही आगे बढ़ रहा है. इसके पहले सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा चौथा शख्‍स कौन है, ये बड़ा सवाल है. क्‍योंकि मृतक का छोटा बेटा 14 वर्षीय अच्‍छे लाल जब घटना की सूचना के बाद घटनास्‍थल पर पहुंचा, तो तीनों की मौत हो चुकी थी.     छोटे बेटे ने क्या बतायामृतक के छोटे बेटे 14 वर्षीय अच्‍छे लाल ने बताया कि वो खेलने के बाद घर पर खाना खा रहा था. उसके माता-पिता और बहन घर से निकल गए थे. वो पीछे जा रहा था. वो बताते हैं कि अंधेरा होने की वजह से वो हत्‍यारे को देख नहीं पाए. माता-पिता की हत्‍या की सूचना मिली, जब वह मौके पर पहुंचा, तो उसके पिता, मां और बहन प्रीति की मौत हो चुकी थी. वो पहले से धमकी भी दे रहा था. उसके साथ घटना में कौन-कौन है वो नहीं जानता. लेकिन हत्‍यारा बहन प्रीति से शादी करने का दबाव बनाते हुए पहले से हत्‍या की धमकी दे रहा था. बड़े बेटे ने क्या बतायामृतक के बड़े बेटे 17 वर्षीय सुग्रीव ने बताया कि घटना की सूचना मिली तो वो बंगलौर में था. उसने अपने मालिक को बताया कि उसके माता-पिता और बहन की हत्‍या हो गई है, तो उसके मालिक ने फ्लाइट का टिकट कटाकर उसे यहां पर भेजा है. उसने बताया कि लखनऊ से यहां तक आने में उसे छह घंटे लगे. उसका कहनान है कि आरोपी को फांसी की सजा मिलनी चाहिए. यही उसकी मांग है. उसने कहा कि उसे न्‍याय चाहिए. उसे आशंका है कि हत्‍या में आरोपी के साथ और लोग भी साथ रहे हैं. एसएसपी ने क्या बतायासीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद पुलिस के आलाधिकारियों के होश उड़ गए हैं. गोरखपुर के एसएसपी डा. विपिन ताडा ने इस मामले पर कहा है कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है. परिजनों द्वारा उसे नामजद किया गया था. जांच में कुछ अन्‍य साक्ष्‍य भी सामने आए हैं. जांच के लिए दो एसपी की संयुक्‍त टीम बनाई गई है. एसपी सिटी और एसपी साउथ के नेतृत्‍व में दो टीम गठित की गई है. जो भी तथ्‍य सामने आएंगे, उसके आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी. गांव में दहशत बरकरारगामा निषाद डेढ़ माह पहले ही विदेश से गांव लौटे थे. वे बंग्‍ला चौराहा पर नया मकान बनवा कर रहते रहे थे. पूर्व में भी आरोपी ने प्रीति पर शादी का दबाव बनाते हुए गामा को धमकी दी थी. उनके दोनों भाई राना निषाद और सरविंदर निषाद गांव के पुश्‍तैनी मकान में रहते हैं. राना निषाद के बेटी की 28 अप्रैल को शादी है. उसी के मटकोड़वा की रस्‍म के लिए 15 अप्रैल को गामा पत्‍नी और बेटी के साथ पैदल ही गांव के पुश्‍तैनी मकान पर जा रहे थे. उसी दौरान बेरहमी से धारदार हथियार से उनकी हत्‍या कर दी गई. राना ने बेटी की शादी नहीं टाली है, लेकिन गांव में दहशत बरकरार है. क्या थी घटनाहत्‍यारोपी आलोक पासवान रायगंज गांव में नानी के यहां रहता रहा है. एकतरफा प्‍यार में उसने गामा निषाद, उनकी पत्‍नी संजू निषाद और पुत्री प्रीति निषाद की बांका से पीछे से वार कर सरेराह हत्‍या कर दी. तीनों की गर्दन पर पीछे से वार किया गया. तीनों की घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई. पुलिस ने आरोपी को घटना के बाद ही गिरफ्तार कर लिया. वो पुलिस का असलहा छीनकर उनपर फायर कर दिया. इसके बाद पुलिस ने उसे जवाबी कार्रवाई कर पैर में गोली लगने के बाद गिरफ्तार कर लिया था. UP Politics: समाजवादी पार्टी की इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं हुए शहजिल इस्लाम, अब उठ रहे हैं ये सवाल

Gorakhpur Triple Murder: 3 लोगों की हत्या मामले में CCTV फुटेज आने के बाद खड़ा हुआ नया सवाल, शक की सुई दूसरी तरफ घूमी

Gorakhpur triple murder case: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) में चार दिन पहले हुए ट्रिपल मर्डर केस में हत्‍या के पहले का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है. सीसीटीवी फुटेज में मृतक पति-पत्‍नी गामा निषाद और संजू निषाद और बेटी प्रीति पैदल जाते हुए दिख रहे हैं. इसके बाद सीसीटीवी में सफेद शर्ट पहना शख्स थोड़ी देर बाद उनके पीछे जाते हुए दिख रहा है. वहीं शख्‍स प्रीति से बात करते भी दिख रहा है. उस फोटो में लग रहा है कि आगे चल रहे प्रीति के माता-पिता को इसकी जानकारी है. पांचवें नंबर पर थोड़ी देर बाद हत्यारा आलोक पासवान भी हाथ में बांका लेकर उनके पीछे जाते हुए दिखाई दे रहा है. अब सवाल ये है कि वो चौथा शख्स कौन था जो हत्‍या के ठीक पहले मृतकों के साथ दिख रहा है.

कई सवाल खड़े हुए
गोरखपुर में 25 अप्रैल सोमवार की रात हुए ट्रिपल मर्डर पर सवाल खड़े होने लगे हैं. हत्‍या के ठीक पहले का सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद से कई सवाल खड़े हो गए हैं. मृतक गामा निषाद के दोनों बेटों ने एक से अधिक लोगों के हत्‍या में शामिल होने का शक जताया है. हालांकि पुलिस ने हत्यारोपी आलोक पासवान को घटना के बाद ही गिरफ्तार कर लिया लेकिन जो सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, उसे देखकर हत्‍या में एक ही आरोपी के शाम‍िल होने का दावा कर रही पुलिस के होश उड़ गए हैं. सीसीटीवी फुटेज में गामा निषाद, उसकी पत्‍नी संजू निषाद और बेटी प्रीति जाते हुए दिखाई दे रहे हैं.

Muzaffarnagar News: मुजफ्फरनगर में दो मुस्लिम परिवारों ने की हिंदू धर्म में वापसी, हारून बने अरुण

सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई दे रहा है कि 8 बजकर 27 मिनट 56 सेकेंड पर गामा निषाद 42 वर्ष, संजू 38 वर्ष और 20 वर्षीय बेटी प्रीति मांगलिक कार्यक्रम में गांव के पुश्‍तैनी मकान पर पैदल ही जाते हुए दिखाई दे रहे हैं. इसके बाद सफेद शर्ट में एक युवक 8 बजकर 28 मिनट 47 सेकेंड पर तीनों के पीछे जाते हुए दिखाई दे रहा है. इसके ठीक बाद 8 बजकर 29 मिनट 19 सेकेंड पर पीछे से हत्‍यारोपी हाथ में बांका लिए हुए जाते साफ दिखाई दे रहा है. 

चौथे शख्स का पता नहीं
किसी मकान की छत पर लगे सीसीटीवी फुटेज में हत्‍यारे का चेहरा तो नहीं दिख रहा है, लेकिन ये साफ है कि वो इसमें अकेले ही आगे बढ़ रहा है. इसके पहले सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा चौथा शख्‍स कौन है, ये बड़ा सवाल है. क्‍योंकि मृतक का छोटा बेटा 14 वर्षीय अच्‍छे लाल जब घटना की सूचना के बाद घटनास्‍थल पर पहुंचा, तो तीनों की मौत हो चुकी थी.    

छोटे बेटे ने क्या बताया
मृतक के छोटे बेटे 14 वर्षीय अच्‍छे लाल ने बताया कि वो खेलने के बाद घर पर खाना खा रहा था. उसके माता-पिता और बहन घर से निकल गए थे. वो पीछे जा रहा था. वो बताते हैं कि अंधेरा होने की वजह से वो हत्‍यारे को देख नहीं पाए. माता-पिता की हत्‍या की सूचना मिली, जब वह मौके पर पहुंचा, तो उसके पिता, मां और बहन प्रीति की मौत हो चुकी थी. वो पहले से धमकी भी दे रहा था. उसके साथ घटना में कौन-कौन है वो नहीं जानता. लेकिन हत्‍यारा बहन प्रीति से शादी करने का दबाव बनाते हुए पहले से हत्‍या की धमकी दे रहा था.

बड़े बेटे ने क्या बताया
मृतक के बड़े बेटे 17 वर्षीय सुग्रीव ने बताया कि घटना की सूचना मिली तो वो बंगलौर में था. उसने अपने मालिक को बताया कि उसके माता-पिता और बहन की हत्‍या हो गई है, तो उसके मालिक ने फ्लाइट का टिकट कटाकर उसे यहां पर भेजा है. उसने बताया कि लखनऊ से यहां तक आने में उसे छह घंटे लगे. उसका कहनान है कि आरोपी को फांसी की सजा मिलनी चाहिए. यही उसकी मांग है. उसने कहा कि उसे न्‍याय चाहिए. उसे आशंका है कि हत्‍या में आरोपी के साथ और लोग भी साथ रहे हैं.

एसएसपी ने क्या बताया
सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद पुलिस के आलाधिकारियों के होश उड़ गए हैं. गोरखपुर के एसएसपी डा. विपिन ताडा ने इस मामले पर कहा है कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है. परिजनों द्वारा उसे नामजद किया गया था. जांच में कुछ अन्‍य साक्ष्‍य भी सामने आए हैं. जांच के लिए दो एसपी की संयुक्‍त टीम बनाई गई है. एसपी सिटी और एसपी साउथ के नेतृत्‍व में दो टीम गठित की गई है. जो भी तथ्‍य सामने आएंगे, उसके आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी.

गांव में दहशत बरकरार
गामा निषाद डेढ़ माह पहले ही विदेश से गांव लौटे थे. वे बंग्‍ला चौराहा पर नया मकान बनवा कर रहते रहे थे. पूर्व में भी आरोपी ने प्रीति पर शादी का दबाव बनाते हुए गामा को धमकी दी थी. उनके दोनों भाई राना निषाद और सरविंदर निषाद गांव के पुश्‍तैनी मकान में रहते हैं. राना निषाद के बेटी की 28 अप्रैल को शादी है. उसी के मटकोड़वा की रस्‍म के लिए 15 अप्रैल को गामा पत्‍नी और बेटी के साथ पैदल ही गांव के पुश्‍तैनी मकान पर जा रहे थे. उसी दौरान बेरहमी से धारदार हथियार से उनकी हत्‍या कर दी गई. राना ने बेटी की शादी नहीं टाली है, लेकिन गांव में दहशत बरकरार है.

क्या थी घटना
हत्‍यारोपी आलोक पासवान रायगंज गांव में नानी के यहां रहता रहा है. एकतरफा प्‍यार में उसने गामा निषाद, उनकी पत्‍नी संजू निषाद और पुत्री प्रीति निषाद की बांका से पीछे से वार कर सरेराह हत्‍या कर दी. तीनों की गर्दन पर पीछे से वार किया गया. तीनों की घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई. पुलिस ने आरोपी को घटना के बाद ही गिरफ्तार कर लिया. वो पुलिस का असलहा छीनकर उनपर फायर कर दिया. इसके बाद पुलिस ने उसे जवाबी कार्रवाई कर पैर में गोली लगने के बाद गिरफ्तार कर लिया था.

UP Politics: समाजवादी पार्टी की इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं हुए शहजिल इस्लाम, अब उठ रहे हैं ये सवाल