Delhi Police Bribe Case: दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर के लिए रिश्वत ले रहा था सिपाही, सीबीआई ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

Delhi Police Bribe Case: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा में तैनात एक इंस्पेक्टर के लिए दो लाख रुपए रिश्वत ले रहे दिल्ली पुलिस के एक सिपाही को भुवनेश्वर से गिरफ्तार किया है. आरोप है कि एक मामले में गवाह को आरोपी बनाने की धमकी देकर यह रिश्वत वसूल की जा रही थी. आरोपी सिपाही के ठिकानों पर छापेमारी जारी है और फिलहाल इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी नहीं हुई है.  रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया सिपाहीसीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी के मुताबिक सीबीआई ने विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत जिन अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है, उसमें इंस्पेक्टर सज्जन सिंह यादव और सिपाही अमित लाहुचा शामिल है. इनमें सिपाही अमित को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है. सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा को शिकायतकर्ता ने शिकायत दी थी कि वह दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा दर्ज की गई एफआईआर नंबर 74 / 2016 में बतौर गवाह था. मामले में फंसाने की दी गई धमकीइस मामले की जांच दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा में तैनात इंस्पेक्टर सज्जन सिंह यादव ने की थी. जांच के बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एक आरोपपत्र कोर्ट के सामने पेश भी कर दिया था. जिसमें शिकायतकर्ता को गवाह बताया गया था. आरोप है कि इसके बाद इंस्पेक्टर सज्जन सिंह यादव ने शिकायतकर्ता से संबंध स्थापित किया और उससे साढ़े चार लाख रुपए रिश्वत की मांग की. यह भी आरोप है कि शिकायतकर्ता को धमकी दी गई कि अगर उसने रिश्वत की राशि नहीं दी तो दिल्ली पुलिस इस मामले में जो पूरक आरोपपत्र कोर्ट के सामने पेश करेगी उसमें उसे गवाह की जगह आरोपी बना दिया जाएगा. सीबीआई कर रही है छापेमारीसीबीआई के मुताबिक इस मामले में आरोपी इंस्पेक्टर ने शिकायतकर्ता से कहा कि वह रिश्वत की राशि लेने के लिए भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर 24 अप्रैल 2022 को पहुंचेगा. इसके बाद उसने शिकायतकर्ता को बताया कि रिश्वत की राशि लेने के लिए उसका सिपाही भुवनेश्वर में उससे संपर्क करेगा. सीबीआई ने इस मामले की आरंभिक जांच की और जांच के दौरान महत्वपूर्ण तथ्य पाए जाने पर विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. इसके बाद जाल बिछाकर दो लाख रुपए की रिश्वत ले रहे दिल्ली पुलिस के सिपाही अमित को गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तारी के बाद आरोपी के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी जारी है. इस मामले में आरोपी इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया जा सकता है.  ये भी पढ़ें -  कोरोना के केसों ने बढ़ाई चिंता, कोविड के बढ़ रहे मामलों पर पीएम मोदी 27 अप्रैल को मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे बैठक Delhi COVID 19: राजधानी दिल्ली में फिर 1 हजार से ज्यादा नए कोरोना मामले, 1 मरीज की मौत

Delhi Police Bribe Case: दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर के लिए रिश्वत ले रहा था सिपाही, सीबीआई ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

Delhi Police Bribe Case: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा में तैनात एक इंस्पेक्टर के लिए दो लाख रुपए रिश्वत ले रहे दिल्ली पुलिस के एक सिपाही को भुवनेश्वर से गिरफ्तार किया है. आरोप है कि एक मामले में गवाह को आरोपी बनाने की धमकी देकर यह रिश्वत वसूल की जा रही थी. आरोपी सिपाही के ठिकानों पर छापेमारी जारी है और फिलहाल इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी नहीं हुई है. 

रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया सिपाही
सीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी के मुताबिक सीबीआई ने विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत जिन अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है, उसमें इंस्पेक्टर सज्जन सिंह यादव और सिपाही अमित लाहुचा शामिल है. इनमें सिपाही अमित को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है. सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा को शिकायतकर्ता ने शिकायत दी थी कि वह दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा दर्ज की गई एफआईआर नंबर 74 / 2016 में बतौर गवाह था.

मामले में फंसाने की दी गई धमकी
इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा में तैनात इंस्पेक्टर सज्जन सिंह यादव ने की थी. जांच के बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एक आरोपपत्र कोर्ट के सामने पेश भी कर दिया था. जिसमें शिकायतकर्ता को गवाह बताया गया था. आरोप है कि इसके बाद इंस्पेक्टर सज्जन सिंह यादव ने शिकायतकर्ता से संबंध स्थापित किया और उससे साढ़े चार लाख रुपए रिश्वत की मांग की. यह भी आरोप है कि शिकायतकर्ता को धमकी दी गई कि अगर उसने रिश्वत की राशि नहीं दी तो दिल्ली पुलिस इस मामले में जो पूरक आरोपपत्र कोर्ट के सामने पेश करेगी उसमें उसे गवाह की जगह आरोपी बना दिया जाएगा.

सीबीआई कर रही है छापेमारी
सीबीआई के मुताबिक इस मामले में आरोपी इंस्पेक्टर ने शिकायतकर्ता से कहा कि वह रिश्वत की राशि लेने के लिए भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर 24 अप्रैल 2022 को पहुंचेगा. इसके बाद उसने शिकायतकर्ता को बताया कि रिश्वत की राशि लेने के लिए उसका सिपाही भुवनेश्वर में उससे संपर्क करेगा. सीबीआई ने इस मामले की आरंभिक जांच की और जांच के दौरान महत्वपूर्ण तथ्य पाए जाने पर विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. इसके बाद जाल बिछाकर दो लाख रुपए की रिश्वत ले रहे दिल्ली पुलिस के सिपाही अमित को गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तारी के बाद आरोपी के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी जारी है. इस मामले में आरोपी इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया जा सकता है. 

ये भी पढ़ें - 

कोरोना के केसों ने बढ़ाई चिंता, कोविड के बढ़ रहे मामलों पर पीएम मोदी 27 अप्रैल को मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे बैठक

Delhi COVID 19: राजधानी दिल्ली में फिर 1 हजार से ज्यादा नए कोरोना मामले, 1 मरीज की मौत