Coronavirus In China: चीन में कोरोना से कोहराम, शंघाई में कोविड की नई लहर में पहली बार 3 लोगों की मौत

चीन में कोरोना महामारी का कहर लगातार जारी है. कोविड-19 की नई लहर में लॉकडाउन की शुरुआत के बाद शंघाई में पहली बार तीन लोगों की मौत हो गई है. शहर के अधिकारियों के मुताबिक संक्रमण के बाद अस्पताल में जाने के बाद तीन लोगों की हालत गंभीर हो गई और उन्हें ठीक करने के सभी प्रयास असफल हो गए. जिसके बाद तीनों की मौत हो गई. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक कोविड-19 से संक्रमित तीन लोगों की रविवार को मौत हो गई. मौजूदा प्रकोप के दौरान पहली बार चीन के शंघाई में  कोरोनोवायरस रोगियों की मौत की रिपोर्ट की गई है. शंघाई में 17 अप्रैल को कोरोना के 19,831 मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं, इससे पहले शनिवार यानि 16 अप्रैल को 21,582 मामले दर्ज किए गए थे. शंघाई में कोरोना की नई लहर में पहली बार मौत की रिपोर्ट चीन में जीरो कोविड पॉलिसी लागू है. शंघाई समेत कई शहरों में लॉकडाउन की स्थिति से करोड़ों लोग घरों में कैद हैं. अकेले शंघाई में ही करीब 2.5 करोड़ लोग घरों में कैद रहने के लिए मजबूर हैं. नई लहर के बाद शंघाई में पहली बार कोरोना संक्रमण से मौत की रिपोर्ट दर्ज की गई है. तीन मरीजों की मौत से स्वास्थ्य विभाग की चिंता भी बढ़ गई है वही लोगों में भय का माहौल बना हुआ है. बताया जा रहा है कि साल 2019 में वुहान में कोरोना महामारी फैलने के बाद शंघाई अब तक का सबसे संक्रमित शहर बन गया है. शंघाई में लॉकडाउन से करोड़ों लोग घरों में कैद बता दें कि शंघाई में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. 28 मार्च को चीन के सबसे बड़े शहर ने ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए दो चरणों में लॉकडाउन की शुरुआत की गई थी. शंघाई समेत कई और शहरों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद और अधिक प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं. चीन के उत्तरी पश्चिमी शहर जियान (Xian) में इस महीने से लगातार बढ़ रहे कोविड-19 के मामलों को देखते हुए लोकल प्रशासन ने निर्देश देते हुए कहा है कि लोग बिना मतलब के अपने घरों से निकलने से बचें. सख्त प्रतिबंधों की वजह से दुनियाभर में सप्लाई चेन पर असर पड़ा है.  ये भी पढ़ें- ईंधन की बढ़ती कीमतों से परेशान ऑटो-टैक्सी, मिनी बस चालक; दिल्ली में आज से हड़ताल, 10000 आरटीवी बसें भी रहेंगी बंद यूक्रेन की रूस को चेतावनी! कहा- 'मारियुपोल पर कब्जे से बंद हो सकती है शांति वार्ता'; रूसी सेना ने नष्ट किया इस्पात संयंत्र

Coronavirus In China: चीन में कोरोना से कोहराम, शंघाई में कोविड की नई लहर में पहली बार 3 लोगों की मौत

चीन में कोरोना महामारी का कहर लगातार जारी है. कोविड-19 की नई लहर में लॉकडाउन की शुरुआत के बाद शंघाई में पहली बार तीन लोगों की मौत हो गई है. शहर के अधिकारियों के मुताबिक संक्रमण के बाद अस्पताल में जाने के बाद तीन लोगों की हालत गंभीर हो गई और उन्हें ठीक करने के सभी प्रयास असफल हो गए. जिसके बाद तीनों की मौत हो गई. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक कोविड-19 से संक्रमित तीन लोगों की रविवार को मौत हो गई. मौजूदा प्रकोप के दौरान पहली बार चीन के शंघाई में  कोरोनोवायरस रोगियों की मौत की रिपोर्ट की गई है. शंघाई में 17 अप्रैल को कोरोना के 19,831 मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं, इससे पहले शनिवार यानि 16 अप्रैल को 21,582 मामले दर्ज किए गए थे.

शंघाई में कोरोना की नई लहर में पहली बार मौत की रिपोर्ट

चीन में जीरो कोविड पॉलिसी लागू है. शंघाई समेत कई शहरों में लॉकडाउन की स्थिति से करोड़ों लोग घरों में कैद हैं. अकेले शंघाई में ही करीब 2.5 करोड़ लोग घरों में कैद रहने के लिए मजबूर हैं. नई लहर के बाद शंघाई में पहली बार कोरोना संक्रमण से मौत की रिपोर्ट दर्ज की गई है. तीन मरीजों की मौत से स्वास्थ्य विभाग की चिंता भी बढ़ गई है वही लोगों में भय का माहौल बना हुआ है. बताया जा रहा है कि साल 2019 में वुहान में कोरोना महामारी फैलने के बाद शंघाई अब तक का सबसे संक्रमित शहर बन गया है.

शंघाई में लॉकडाउन से करोड़ों लोग घरों में कैद

बता दें कि शंघाई में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. 28 मार्च को चीन के सबसे बड़े शहर ने ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए दो चरणों में लॉकडाउन की शुरुआत की गई थी. शंघाई समेत कई और शहरों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद और अधिक प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं. चीन के उत्तरी पश्चिमी शहर जियान (Xian) में इस महीने से लगातार बढ़ रहे कोविड-19 के मामलों को देखते हुए लोकल प्रशासन ने निर्देश देते हुए कहा है कि लोग बिना मतलब के अपने घरों से निकलने से बचें. सख्त प्रतिबंधों की वजह से दुनियाभर में सप्लाई चेन पर असर पड़ा है. 

ये भी पढ़ें-

ईंधन की बढ़ती कीमतों से परेशान ऑटो-टैक्सी, मिनी बस चालक; दिल्ली में आज से हड़ताल, 10000 आरटीवी बसें भी रहेंगी बंद

यूक्रेन की रूस को चेतावनी! कहा- 'मारियुपोल पर कब्जे से बंद हो सकती है शांति वार्ता'; रूसी सेना ने नष्ट किया इस्पात संयंत्र