Chandauli News: चंदौली में हुई अनोखी शादी की हर तरफ चर्चा, शामिल हुए हर दोस्त और संबंधी ने किया रक्तदान

UP News: चंदौली (Chandauli) में गुरुवार को एक निजी लान में ऐसी शादी देखने को मिली. शादी में दूल्हा-दुल्हन, दोस्त और सगे संबंधी के अलावा शादी के मंडप में रक्तदान शिविर (Blood Donation Camp) भी था. अजित जो कि चंदौली नगर पंचायत क्षेत्र के गौतम नगर (Gautam Nagar) के निवासी हैं. अजित के चार भाई और दो बहन हैं. बहन की शादी हो गयी है जबकि अजित अपने भाईयों में दूसरे नंबर पर हैं, जिनकी आज शादी हो गई. प्रियंका चंदौली के सकलडीहा की रहने वाली हैं, जो सात बहने हैं और भाई में प्रियंका तीसरे नंबर पर हैं. पति-पत्नी दोनों ही शिक्षित हैं. दोनों मिलकर पिछले लगभग तीन वर्षों से एक सामाजिक संस्था जन सहयोग संस्थान भी चलाते हैं. आज दोनों परिणय सूत्र में बध गए. पूर्वी यूपी के चंदौली में एक निजी लान में शादी समारोह का कार्यक्रम चल हुआ. जिसमें प्रवेश द्वार पर ही स्वैक्षिक रक्तदान शिविर का बैनर लगा हुआ दिखायी पड़ा. जिसपर पंडित कमला पति त्रिपाठी जिला संयुक्त चिकित्सालय लिखा हुआ था. अमूनन आम शादियों में प्रवेश द्वार पर घर के मुखिया जो अपने शादी में आने वाले मेहमानों के स्वागत के लिए खड़े रहते हैं, का नाम लिखा होता है. लेकिन आज जिस शादी की चर्चा हम कर रहे हैं वो अनोखा है. सामाजिक दृष्टिकोण से अतिमहत्पूर्ण है क्योंकि इस शादी में लाखों रुपये खर्च करके लोगों के सुख-सुविधा का ध्यान रखने से ज्यादा उनके जीवन को कैसे सुरक्षित और सुखमय बनाया जाय इसकी तैयारी की गयी थी. Kanpur: स्टडी में मौसम में बदलाव को लेकर सामने आई चिंता बढ़ाने वाली खबर, वैज्ञानिकों ने किया ये बड़ा दावा क्या करते हैं पति-पत्नी?अजित और प्रियंका पिछले कई वर्षों से एक दूसरे को जानते पहचानते हैं. एक साथ पढ़ाई लिखाई भी पूरी की और तीन वर्ष पहले से एक सामाजिक संस्था जन सहयोग संस्थान भी चला रहे है. यह संस्था समाज में घूमघूम कर ब्लड इकठ्ठा करती है और जरूरत मंद लोगों को देती है. यही नहीं अगर किसी गरीब के पास पैसा नहीं है तो उनको आर्थिक मदद कर पढ़ाने लिखाने का भी काम करती है. महज कुछ ही समय हुए इन दोनों को इस संस्था को चलाते हुए. अभी तो यूं कहा जाय कि जुमा-जुमा चार ही दिन हुए. लेकिन आज जो शादी के मंण्डप में इन दोनों ने परिणय सूत्र के बंधन में बंधने के पहले जो मिशाल पेश किया है वो काबिले तारीफ और सराहनीय है. कैसे हुई शादी?अजीत और प्रियंका शादी ने पहले रक्तदान किया और फिर इस शादी में आये सगे संबंधी, दोस्तों ने भी रक्तदान किया. रक्तदान शिविर का आयोजन जिला अस्पताल की तरफ से किया गया था. आज जो भी ब्लड इकठ्ठा होगा वो जिला अस्पताल के ब्लड बैंक रखा जाएगा. उसको गरीब और जरूरत मंद लोगों को समय पड़ने पर दिया जाएगा. शादी में खाने पीने का व्यजन भी बहुत था लेकिन सबसे पहले यह व्यजन गरीब और अनाथ बच्चों को खिलाया गया फिर सगे संबंधियों और दोस्तों को. चंदौली में इस शादी की चर्चा खूब होती रही. ये भी पढ़ें- बुलडोजर को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा- अब जनता भाजपाइयों के घरों...

Chandauli News: चंदौली में हुई अनोखी शादी की हर तरफ चर्चा, शामिल हुए हर दोस्त और संबंधी ने किया रक्तदान

UP News: चंदौली (Chandauli) में गुरुवार को एक निजी लान में ऐसी शादी देखने को मिली. शादी में दूल्हा-दुल्हन, दोस्त और सगे संबंधी के अलावा शादी के मंडप में रक्तदान शिविर (Blood Donation Camp) भी था. अजित जो कि चंदौली नगर पंचायत क्षेत्र के गौतम नगर (Gautam Nagar) के निवासी हैं. अजित के चार भाई और दो बहन हैं. बहन की शादी हो गयी है जबकि अजित अपने भाईयों में दूसरे नंबर पर हैं, जिनकी आज शादी हो गई. प्रियंका चंदौली के सकलडीहा की रहने वाली हैं, जो सात बहने हैं और भाई में प्रियंका तीसरे नंबर पर हैं.

पति-पत्नी दोनों ही शिक्षित हैं. दोनों मिलकर पिछले लगभग तीन वर्षों से एक सामाजिक संस्था जन सहयोग संस्थान भी चलाते हैं. आज दोनों परिणय सूत्र में बध गए. पूर्वी यूपी के चंदौली में एक निजी लान में शादी समारोह का कार्यक्रम चल हुआ. जिसमें प्रवेश द्वार पर ही स्वैक्षिक रक्तदान शिविर का बैनर लगा हुआ दिखायी पड़ा. जिसपर पंडित कमला पति त्रिपाठी जिला संयुक्त चिकित्सालय लिखा हुआ था. अमूनन आम शादियों में प्रवेश द्वार पर घर के मुखिया जो अपने शादी में आने वाले मेहमानों के स्वागत के लिए खड़े रहते हैं, का नाम लिखा होता है. लेकिन आज जिस शादी की चर्चा हम कर रहे हैं वो अनोखा है. सामाजिक दृष्टिकोण से अतिमहत्पूर्ण है क्योंकि इस शादी में लाखों रुपये खर्च करके लोगों के सुख-सुविधा का ध्यान रखने से ज्यादा उनके जीवन को कैसे सुरक्षित और सुखमय बनाया जाय इसकी तैयारी की गयी थी.

Kanpur: स्टडी में मौसम में बदलाव को लेकर सामने आई चिंता बढ़ाने वाली खबर, वैज्ञानिकों ने किया ये बड़ा दावा

क्या करते हैं पति-पत्नी?
अजित और प्रियंका पिछले कई वर्षों से एक दूसरे को जानते पहचानते हैं. एक साथ पढ़ाई लिखाई भी पूरी की और तीन वर्ष पहले से एक सामाजिक संस्था जन सहयोग संस्थान भी चला रहे है. यह संस्था समाज में घूमघूम कर ब्लड इकठ्ठा करती है और जरूरत मंद लोगों को देती है. यही नहीं अगर किसी गरीब के पास पैसा नहीं है तो उनको आर्थिक मदद कर पढ़ाने लिखाने का भी काम करती है. महज कुछ ही समय हुए इन दोनों को इस संस्था को चलाते हुए. अभी तो यूं कहा जाय कि जुमा-जुमा चार ही दिन हुए. लेकिन आज जो शादी के मंण्डप में इन दोनों ने परिणय सूत्र के बंधन में बंधने के पहले जो मिशाल पेश किया है वो काबिले तारीफ और सराहनीय है.

कैसे हुई शादी?
अजीत और प्रियंका शादी ने पहले रक्तदान किया और फिर इस शादी में आये सगे संबंधी, दोस्तों ने भी रक्तदान किया. रक्तदान शिविर का आयोजन जिला अस्पताल की तरफ से किया गया था. आज जो भी ब्लड इकठ्ठा होगा वो जिला अस्पताल के ब्लड बैंक रखा जाएगा. उसको गरीब और जरूरत मंद लोगों को समय पड़ने पर दिया जाएगा. शादी में खाने पीने का व्यजन भी बहुत था लेकिन सबसे पहले यह व्यजन गरीब और अनाथ बच्चों को खिलाया गया फिर सगे संबंधियों और दोस्तों को. चंदौली में इस शादी की चर्चा खूब होती रही.

ये भी पढ़ें-

बुलडोजर को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा- अब जनता भाजपाइयों के घरों...