BCCI से सात मिस्ड कॉल... रवि शास्त्री के पास ऐसे आया था टीम इंडिया का डायरेक्टर बनने का ऑफर

Ravi Shastri: भारत के पूर्व ऑल-राउंडर क्रिकेटर रवि शास्त्री लगभग चार साल तक टीम इंडिया के हेड कोच रहे हैं. उनके इस कार्यकाल में टीम इंडिया ने भले ही कोई ICC ट्रॉफी नहीं जीती, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में दो बार ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीतना और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच पोस्टपोंड होने पर 2-1 से सीरीज में बढ़त लेना, उनकी कुछ खास उपलब्धियों में शामिल रहा. रवि शास्त्री का यह कार्यकाल साल 2017 से नवंबर 2021 तक रहा. हालांकि वह इससे पहले भी दो बार टीम इंडिया के डायरेक्टर रह चुके हैं. पहली बार 2007 में महज बांग्लादेश दौरे के दौरान और दूसरी बार 2014 में दो साल के लिए उन्हें डायरेक्टर नियुक्त किया गया था.  अब शास्त्री ने अपने 2014 के नियुक्ति को लेकर एक किस्सा सुनाया है. शास्त्री बताते हैं, 'भारत के 2014 के इंग्लैंड दौरे के ओवल मैच के दौरान मैं कमेंट्री कर रहा था. 6 या 7 मिस कॉल आने के बाद मुझे ब्रेक लेना पड़ा. मैं हैरत में था.. सात मिस्ड कॉल.. क्या हुआ होगा? ये कॉल BCCI से थे और मुझसे कहा गया कि हम चाहते हैं कि किसी भी सूरत में आप कल से ही टीम इंडिया को डायरेक्ट करो. मैंने उनसे कहा कि मुझे अपने परिवार और कमर्शियल पार्टनर से बात करनी होगी लेकिन जवाब मिला कि यह सब हम देख लेंगे.' शास्त्री ने कहा कि आपने देखा होगा जब मैंने वनडे मैचों के दौरान टीम इंडिया के सेट अप को जॉइन किया तो मैं जींस और लोफर में था. मेरा जॉब अचानक चेंज हो गया था. शास्त्री ने 2014 से 2016 तक टीम इंडिया के डायरेक्टर का पद संभाला था. इसके बाद 2016 में अनिल कुंबले को हेड कोच नियुक्त किया गया था. 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी के बाद कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद फिर से शास्त्री को बतौर हेड कोच टीम इंडिया के साथ जोड़ा गया था. पिछले साल हुए टी-20 वर्ल्ड कप के बाद शास्त्री का कार्यकाल खत्म हुआ. वर्तमान में राहुल द्रविड़ टीम इंडिया के हेड कोच हैं. यह भी पढ़ें.. Sachin Tendulkar B'day: मुंबई की युवा पलटन ने ऐसे किया सचिन को विश, बताया कैसा रहा था पहली बार मिलने का एक्सपीरियंस Wriddhiman Saha Text Case: दोषी पाए गए पत्रकार बोरिया मजूमदार, अब दो साल तक न तो स्टेडियम में घुस पाएंगे और न ही ले पाएंगे इंटरव्यू

BCCI से सात मिस्ड कॉल... रवि शास्त्री के पास ऐसे आया था टीम इंडिया का डायरेक्टर बनने का ऑफर

Ravi Shastri: भारत के पूर्व ऑल-राउंडर क्रिकेटर रवि शास्त्री लगभग चार साल तक टीम इंडिया के हेड कोच रहे हैं. उनके इस कार्यकाल में टीम इंडिया ने भले ही कोई ICC ट्रॉफी नहीं जीती, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में दो बार ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीतना और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच पोस्टपोंड होने पर 2-1 से सीरीज में बढ़त लेना, उनकी कुछ खास उपलब्धियों में शामिल रहा. रवि शास्त्री का यह कार्यकाल साल 2017 से नवंबर 2021 तक रहा. हालांकि वह इससे पहले भी दो बार टीम इंडिया के डायरेक्टर रह चुके हैं. पहली बार 2007 में महज बांग्लादेश दौरे के दौरान और दूसरी बार 2014 में दो साल के लिए उन्हें डायरेक्टर नियुक्त किया गया था. 

अब शास्त्री ने अपने 2014 के नियुक्ति को लेकर एक किस्सा सुनाया है. शास्त्री बताते हैं, 'भारत के 2014 के इंग्लैंड दौरे के ओवल मैच के दौरान मैं कमेंट्री कर रहा था. 6 या 7 मिस कॉल आने के बाद मुझे ब्रेक लेना पड़ा. मैं हैरत में था.. सात मिस्ड कॉल.. क्या हुआ होगा? ये कॉल BCCI से थे और मुझसे कहा गया कि हम चाहते हैं कि किसी भी सूरत में आप कल से ही टीम इंडिया को डायरेक्ट करो. मैंने उनसे कहा कि मुझे अपने परिवार और कमर्शियल पार्टनर से बात करनी होगी लेकिन जवाब मिला कि यह सब हम देख लेंगे.' शास्त्री ने कहा कि आपने देखा होगा जब मैंने वनडे मैचों के दौरान टीम इंडिया के सेट अप को जॉइन किया तो मैं जींस और लोफर में था. मेरा जॉब अचानक चेंज हो गया था.

शास्त्री ने 2014 से 2016 तक टीम इंडिया के डायरेक्टर का पद संभाला था. इसके बाद 2016 में अनिल कुंबले को हेड कोच नियुक्त किया गया था. 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी के बाद कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद फिर से शास्त्री को बतौर हेड कोच टीम इंडिया के साथ जोड़ा गया था. पिछले साल हुए टी-20 वर्ल्ड कप के बाद शास्त्री का कार्यकाल खत्म हुआ. वर्तमान में राहुल द्रविड़ टीम इंडिया के हेड कोच हैं.

यह भी पढ़ें..

Sachin Tendulkar B'day: मुंबई की युवा पलटन ने ऐसे किया सचिन को विश, बताया कैसा रहा था पहली बार मिलने का एक्सपीरियंस

Wriddhiman Saha Text Case: दोषी पाए गए पत्रकार बोरिया मजूमदार, अब दो साल तक न तो स्टेडियम में घुस पाएंगे और न ही ले पाएंगे इंटरव्यू