Akshaya Tritiya 2022: अक्षय तृतीया पर 50 साल बाद बन रहा यह अद्भुत संयोग, ऐसे करें पूजा

Akshaya Tritiya 2022 Date in India: वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाने वाली अक्षय तृतीया इस बार 3 मई 2022 को मनाई जाएगी. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, साल 2022 की अक्षय तृतीया मंगल रोहिणी नक्षत्र के शोभन योग में मनाई जाएगी. ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि ग्रहों का ऐसा शुभ संयोग करीब 50 साल बाद बन रहा है. इसके अलावा शुभ योग में अक्षय तृतीया 30 साल के बाद पड़ रही है. ज्योतिष शास्त्र में ये दिन अत्यंत शुभ योग माना जाता है. ऐसे शुभ योग में स्नान व दान करने से पुण्य की प्राप्ति कई गुना बढ़ जाती है. अक्षय तृतीया पर ग्रहों की स्थिति   ज्योतिष गणनाओं के अनुसार, इस साल वैशाख शुक्ल तृतीया पर करीब 50 साल बाद दो ग्रह उच्च राशि में विराजमान होंगे. वहीं दो ग्रह ऐसे हैं जो अपनी राशि में उपस्थिति रहेंगे. दो ग्रहण की उच्च राशि में और दो ग्रहों की स्वराशि में उपस्थिति मांगलिक कार्यों के पुण्यफल की प्राप्ति को कई गुना बढ़ा देते हैं. अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2022 ) पर चंद्रमा अपनी उच्च राशि वृषभ में और शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में होंग्गे. जबकि शनि स्वराशि कुंभ में और गुरु स्वराशि मीन में विराजमान होंगे. ज्योतिष शास्त्र में अक्षय तृतीया पर चार ग्रहों की ऐसी स्थिति होने पर महालाभ की प्राप्ति के संयोग को दर्शाते हैं.     अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त: अक्षय तृतीया तिथि आरंभ: 3 मई सुबह 5 बजकर 18 मिनट पर अक्षय तृतीया तिथि समापन: 4 मई सुबह 7 बजकर 32 मिनट तक. रोहिणी नक्षत्र: 3 मई 2022 सुबह 12:34 मिनट से शुरू होकर 4 मई सुबह 3 :18 मिनट तक होगा. Akshaya Tritiya 2022: अक्षय तृतीया को इस समय खरीदें सोना, जानें शुभ मुहूर्त और चौघड़िया मुहूर्त   Mohini Ekadashi 2022: मोहिनी एकादशी कब? जानें तिथि, मुहूर्त और एकादशी व्रत पूजा विधि Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Akshaya Tritiya 2022: अक्षय तृतीया पर 50 साल बाद बन रहा यह अद्भुत संयोग, ऐसे करें पूजा

Akshaya Tritiya 2022 Date in India: वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाने वाली अक्षय तृतीया इस बार 3 मई 2022 को मनाई जाएगी. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, साल 2022 की अक्षय तृतीया मंगल रोहिणी नक्षत्र के शोभन योग में मनाई जाएगी. ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि ग्रहों का ऐसा शुभ संयोग करीब 50 साल बाद बन रहा है. इसके अलावा शुभ योग में अक्षय तृतीया 30 साल के बाद पड़ रही है. ज्योतिष शास्त्र में ये दिन अत्यंत शुभ योग माना जाता है. ऐसे शुभ योग में स्नान व दान करने से पुण्य की प्राप्ति कई गुना बढ़ जाती है.

अक्षय तृतीया पर ग्रहों की स्थिति  

ज्योतिष गणनाओं के अनुसार, इस साल वैशाख शुक्ल तृतीया पर करीब 50 साल बाद दो ग्रह उच्च राशि में विराजमान होंगे. वहीं दो ग्रह ऐसे हैं जो अपनी राशि में उपस्थिति रहेंगे. दो ग्रहण की उच्च राशि में और दो ग्रहों की स्वराशि में उपस्थिति मांगलिक कार्यों के पुण्यफल की प्राप्ति को कई गुना बढ़ा देते हैं. अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2022 ) पर चंद्रमा अपनी उच्च राशि वृषभ में और शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में होंग्गे. जबकि शनि स्वराशि कुंभ में और गुरु स्वराशि मीन में विराजमान होंगे. ज्योतिष शास्त्र में अक्षय तृतीया पर चार ग्रहों की ऐसी स्थिति होने पर महालाभ की प्राप्ति के संयोग को दर्शाते हैं.    

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त:

  • अक्षय तृतीया तिथि आरंभ: 3 मई सुबह 5 बजकर 18 मिनट पर
  • अक्षय तृतीया तिथि समापन: 4 मई सुबह 7 बजकर 32 मिनट तक.

रोहिणी नक्षत्र: 3 मई 2022 सुबह 12:34 मिनट से शुरू होकर 4 मई सुबह 3 :18 मिनट तक होगा.

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.