Afghanistan Blast: अफगानिस्तान की मस्जिद में हुए विस्फोट में 20 लोगों की मौत, ISIS ने ली जिम्मेदारी

Afghanistan Blast: अफगानिस्तान के बल्ख प्रांत के मजारशरीफ शहर की एक मस्जिद में हुए विस्फोट में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए. मजार-ए-शरीफ के सूत्रों ने बताया कि शहर के व्यस्त इलाके सेह डोकान की मस्जिद में विस्फोट हुआ. स्थानीय मीडिया के मुताबिक कम से कम 20 शव और 65 घायल उपासकों को अबू अली सिना बाल्खी अस्पताल लाया गया है. आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इस विस्फोट की जिम्मेदारी ली है.  काबुल में सड़क किनारे विस्फोट में दो बच्चे जख्मी वहीं अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में गुरुवार को सड़क के किनारे किए गए विस्फोट में दो बच्चे जख्मी हो गए. काबुल पुलिस के प्रवक्ता खालिद ज़दरान ने एक ट्वीट में कहा कि विस्फोट पश्चिमी काबुल की एक सड़क के सुनसान हिस्से में हुआ. हालांकि यहां आसपास शिया बहुल इलाके हैं. विस्फोट की किसी संगठन ने तत्काल जिम्मेदारी नहीं ली है. दो दिन पहले इसी इलाके में, शिक्षण संस्थानों को निशाना बनाकर कई विस्फोट किए गए थे.  इन बम धमाकों में कम से कम छह बच्चों की मौत हो गई थी और 17 अन्य जख्मी हुए थे. ये धमाके काबुल के पास शिया बहुल इलाके दश्त-ए-बारची में अब्दुल रहीम शहीद हाई स्कूल के अंदर और मुमताज एजुकेशन सेंटर के निकट हुए. प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि ऐसा स्कूल के अंदर आत्मघाती हमलावर ने खुद को बम से उड़ा लिया. स्कूल में लगभग 1,000 छात्र पढ़ते हैं. इस्लामिक स्टेट से संबंधित ‘आईएस इन खोरसान प्रोविन्स’ ने पूर्व में स्कूलों को निशाना बनाकर हमले किए हैं, खासकर शिया बहुल इलाकों में. तालिबान के दावे पर उठे सवाल तालिबान यह दावा करता आया है कि पिछले साल अगस्त में सत्ता संभालने के बाद से उन्होंने देश को सुरक्षित कर लिया है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां और विश्लेषक तालिबान के इस दावे पर सवाल उठाते रहे हैं. अंतरराष्ट्रीय विश्लेषकों का कहना है कि अफगानिस्तान में आतंकवाद का फिर से उभरने का खतरा बना हुआ है और इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह ने कई बड़े हमलों का दावा किया है. यह भी पढ़ें: रूस यूक्रेन युद्ध का आज 57वां दिन, मारियूपोल पर होगा अगले 24 घंटे में रूस का कब्जा, जेलेंस्की ने उठाया ये कदम संभावित खतरे को लेकर खाली कराई गई यूएस कैपिटल, बाद में पुलिस बोली- कोई खतरा नहीं

Afghanistan Blast: अफगानिस्तान की मस्जिद में हुए विस्फोट में 20 लोगों की मौत, ISIS ने ली जिम्मेदारी

Afghanistan Blast: अफगानिस्तान के बल्ख प्रांत के मजारशरीफ शहर की एक मस्जिद में हुए विस्फोट में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए. मजार-ए-शरीफ के सूत्रों ने बताया कि शहर के व्यस्त इलाके सेह डोकान की मस्जिद में विस्फोट हुआ. स्थानीय मीडिया के मुताबिक कम से कम 20 शव और 65 घायल उपासकों को अबू अली सिना बाल्खी अस्पताल लाया गया है. आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इस विस्फोट की जिम्मेदारी ली है. 

काबुल में सड़क किनारे विस्फोट में दो बच्चे जख्मी

वहीं अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में गुरुवार को सड़क के किनारे किए गए विस्फोट में दो बच्चे जख्मी हो गए. काबुल पुलिस के प्रवक्ता खालिद ज़दरान ने एक ट्वीट में कहा कि विस्फोट पश्चिमी काबुल की एक सड़क के सुनसान हिस्से में हुआ. हालांकि यहां आसपास शिया बहुल इलाके हैं. विस्फोट की किसी संगठन ने तत्काल जिम्मेदारी नहीं ली है.

दो दिन पहले इसी इलाके में, शिक्षण संस्थानों को निशाना बनाकर कई विस्फोट किए गए थे.  इन बम धमाकों में कम से कम छह बच्चों की मौत हो गई थी और 17 अन्य जख्मी हुए थे. ये धमाके काबुल के पास शिया बहुल इलाके दश्त-ए-बारची में अब्दुल रहीम शहीद हाई स्कूल के अंदर और मुमताज एजुकेशन सेंटर के निकट हुए. प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि ऐसा स्कूल के अंदर आत्मघाती हमलावर ने खुद को बम से उड़ा लिया. स्कूल में लगभग 1,000 छात्र पढ़ते हैं.

इस्लामिक स्टेट से संबंधित ‘आईएस इन खोरसान प्रोविन्स’ ने पूर्व में स्कूलों को निशाना बनाकर हमले किए हैं, खासकर शिया बहुल इलाकों में.

तालिबान के दावे पर उठे सवाल

तालिबान यह दावा करता आया है कि पिछले साल अगस्त में सत्ता संभालने के बाद से उन्होंने देश को सुरक्षित कर लिया है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां और विश्लेषक तालिबान के इस दावे पर सवाल उठाते रहे हैं. अंतरराष्ट्रीय विश्लेषकों का कहना है कि अफगानिस्तान में आतंकवाद का फिर से उभरने का खतरा बना हुआ है और इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह ने कई बड़े हमलों का दावा किया है.

यह भी पढ़ें:

रूस यूक्रेन युद्ध का आज 57वां दिन, मारियूपोल पर होगा अगले 24 घंटे में रूस का कब्जा, जेलेंस्की ने उठाया ये कदम

संभावित खतरे को लेकर खाली कराई गई यूएस कैपिटल, बाद में पुलिस बोली- कोई खतरा नहीं