Aaj Ka Panchang 23 April 2022: आज है शनि देव को प्रसन्न करने का दिन, ये है आज की तिथि, नक्षत्र और राहुकाल

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi) : 23 अप्रैल 2022 को वैशाख मास की कृष्ण पक्ष की सप्तमी की तिथि है. जो प्रात: 6 बजकर 29 मिनट तक रहेगी इसके बाद अष्टमी की तिथि आरंभ होगी. आज साध्य योग का निर्माण हो रहा है.  आज का नक्षत्र (Aaj Ka Nakshatra) : 23 अप्रैल 2022 को पंचांग के अनुसार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र है. आज का दिन विशेष है. आज का राहुकाल (Aaj Ka Rahu Kaal)पंचांग के अनुसार 23 अप्रैल शनिवार को राहुकाल प्रात: 9 बजकर 3 मिनट से प्रात: 10 बजकर 41 मिनट तक रहेगा. राहुकाल में शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है. शनि देव की पूजाआज शनिवार का दिन है. शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित है. शास्त्रों में शनि देव को कर्मफलदाता कहा गया है. जो कर्मों के आधार पर शुभ-अशुभ फल प्रदान करते हैं. शनि वर्तमान समय में मकर राशि में विराजमान है. जहां पर आज चंद्रमा का गोचर हो रहा है. शनिवार का दिन शनि देव को प्रसन्न करने लिए उत्तम माना गया है. इस दिन पूजा करने से शनि शुभ फल प्रदान करते हैं.  23 अप्रैल 2022 पंचांग (Aaj Ka Panchang 23 April 2022) विक्रमी संवत्: 2079 मास पूर्णिमांत: वैशाख पक्ष: कृष्ण दिन: शनिवार ऋतु: ग्रीष्म तिथि: सप्तमी - 06:29:15 तक, अष्टमी - 28:31:39 तक नक्षत्र: उत्तराषाढ़ा - 18:54:17 तक करण: बव - 06:29:15 तक, बालव - 17:28:02 तक योग: साघ्य - 25:30:00 तक सूर्योदय: 05:49:10 AM सूर्यास्त: 18:50:42 PM चन्द्रमा: मकर राशि  राहुकाल: 09:03:58 से 10:41:51 तक (इस काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है) शुभ मुहूर्त का समय, अभिजीत मुहूर्त:  11:53:38 से 12:45:51 तक दिशा शूल: पूर्व अशुभ मुहूर्त का समय दुष्टमुहूर्त: 05:48:11 से 06:40:23 तक, 06:40:23 से 07:32:36 तक कुलिक: 06:40:23 से 07:32:36 तक कंटक: 11:53:38 से 12:45:51 तक कालवेला / अर्द्धयाम: 13:38:03 से 14:30:16 तक यमघण्ट: 15:22:28 से 16:14:41 तक यमगण्ड: 13:57:38 से 15:35:32 तक गुलिक काल: 05:48:11 से 07:26:04 तक Disclaimer : यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Aaj Ka Panchang 23 April 2022: आज है शनि देव को प्रसन्न करने का दिन, ये है आज की तिथि, नक्षत्र और राहुकाल

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi) : 23 अप्रैल 2022 को वैशाख मास की कृष्ण पक्ष की सप्तमी की तिथि है. जो प्रात: 6 बजकर 29 मिनट तक रहेगी इसके बाद अष्टमी की तिथि आरंभ होगी. आज साध्य योग का निर्माण हो रहा है. 

आज का नक्षत्र (Aaj Ka Nakshatra) : 23 अप्रैल 2022 को पंचांग के अनुसार उत्तराषाढ़ा नक्षत्र है. आज का दिन विशेष है.

आज का राहुकाल (Aaj Ka Rahu Kaal)
पंचांग के अनुसार 23 अप्रैल शनिवार को राहुकाल प्रात: 9 बजकर 3 मिनट से प्रात: 10 बजकर 41 मिनट तक रहेगा. राहुकाल में शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है.

शनि देव की पूजा
आज शनिवार का दिन है. शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित है. शास्त्रों में शनि देव को कर्मफलदाता कहा गया है. जो कर्मों के आधार पर शुभ-अशुभ फल प्रदान करते हैं. शनि वर्तमान समय में मकर राशि में विराजमान है. जहां पर आज चंद्रमा का गोचर हो रहा है. शनिवार का दिन शनि देव को प्रसन्न करने लिए उत्तम माना गया है. इस दिन पूजा करने से शनि शुभ फल प्रदान करते हैं. 

23 अप्रैल 2022 पंचांग (Aaj Ka Panchang 23 April 2022)

  • विक्रमी संवत्: 2079
  • मास पूर्णिमांत: वैशाख
  • पक्ष: कृष्ण
  • दिन: शनिवार
  • ऋतु: ग्रीष्म
  • तिथि: सप्तमी - 06:29:15 तक, अष्टमी - 28:31:39 तक
  • नक्षत्र: उत्तराषाढ़ा - 18:54:17 तक
  • करण: बव - 06:29:15 तक, बालव - 17:28:02 तक
  • योग: साघ्य - 25:30:00 तक
  • सूर्योदय: 05:49:10 AM
  • सूर्यास्त: 18:50:42 PM
  • चन्द्रमा: मकर राशि 
  • राहुकाल: 09:03:58 से 10:41:51 तक (इस काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है)
  • शुभ मुहूर्त का समय, अभिजीत मुहूर्त:  11:53:38 से 12:45:51 तक
  • दिशा शूल: पूर्व

अशुभ मुहूर्त का समय

  • दुष्टमुहूर्त: 05:48:11 से 06:40:23 तक, 06:40:23 से 07:32:36 तक
  • कुलिक: 06:40:23 से 07:32:36 तक
  • कंटक: 11:53:38 से 12:45:51 तक
  • कालवेला / अर्द्धयाम: 13:38:03 से 14:30:16 तक
  • यमघण्ट: 15:22:28 से 16:14:41 तक
  • यमगण्ड: 13:57:38 से 15:35:32 तक
  • गुलिक काल: 05:48:11 से 07:26:04 तक

Disclaimer : यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.