साम्प्रदायिक हिंसा: मोदी सरकार पर बरसे कांग्रेस नेता शशि थरूर, कहा- दुनियाभर में गिर रही भारत की छवि

कई राज्यों में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, "सरकार का काम राष्ट्र का निर्माण करना है, उसे गिराना नहीं है.  इस शर्मनाक आचरण से इस सरकार ने बड़ी संख्या में अपने नागरिकों का विश्वास खो दिया है." उन्होंने कहा, "दुनिया भर में भारत की छवि गिर रही है. मैं विदेश में अपने दोस्तों से जो कुछ भी सुनता हूं, वह बहुत ही नकारात्मक है. हमें अल्पसंख्यक उत्पीड़न और इस्लामोफोबिया से पहचाना जा रहा है. हम एक समय अपने लोकतंत्र और विविधता के लिए सम्मान से देखा जाता था...बीजेपी जिम्मेदार है." पीड़ितों को कोई नोटिस नहीं दिया गया था- थरूर जहांगीरपुरी में बुलडोजर कार्रवाई को लेकर शशि थरूर ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि यथास्थिति बनाए रखी जानी चाहिए और कार्रवाई आगे नहीं बढ़ाने के लिए कहा, लेकिन उस आदेश के जारी होने के करीब दो घंटे बाद भी बुलडोजर कार्रवाई जारी रही. यह अवैध, मनमाना और असंवैधानिक है, क्योंकि पीड़ितों को कोई नोटिस नहीं दिया गया था." उन्होंने कहा, "घरों और दुकानों को नष्ट कर दिया गया, यह एक बिल्कुल आपराधिक कृत्य है, जिसके लिए गंभीर कार्रवाई की जानी चाहिए. यह डराने-धमकाने की एक नई तकनीक है, जो हमारे देश को जलाने वाली है. यह भारत के संविधान के मूल्यों पर हमला है." सुप्रीम कोर्ट कल करेगा मामले की सुनवाई बता दें कि बुलडोजर कार्रवाई का अब ये मामला सुप्रीम कोर्ट में है. सुप्रीम कोर्ट 21 अप्रैल को मामले की सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एल नागेश्वर राव और बीआर गवई की बेंच जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान के मामले पर सुनवाई करेगी. इसे लेकर कई याचिकाकर्ताओं ने सुनवाई की मांग की थी. साथ ही कई बीजेपी शासित राज्यों में चल रही बुलडोजर की कार्रवाई के खिलाफ जमीयत उलेमा ए हिंद की याचिका पर भी सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा. ये भी पढ़ें-  'ये बुलडोजर देश के संविधान पर चल रहा है', जहांगीरपुर में MCD की कार्यवाही पर राहुल गांधी

साम्प्रदायिक हिंसा: मोदी सरकार पर बरसे कांग्रेस नेता शशि थरूर, कहा- दुनियाभर में गिर रही भारत की छवि

कई राज्यों में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, "सरकार का काम राष्ट्र का निर्माण करना है, उसे गिराना नहीं है.  इस शर्मनाक आचरण से इस सरकार ने बड़ी संख्या में अपने नागरिकों का विश्वास खो दिया है."

उन्होंने कहा, "दुनिया भर में भारत की छवि गिर रही है. मैं विदेश में अपने दोस्तों से जो कुछ भी सुनता हूं, वह बहुत ही नकारात्मक है. हमें अल्पसंख्यक उत्पीड़न और इस्लामोफोबिया से पहचाना जा रहा है. हम एक समय अपने लोकतंत्र और विविधता के लिए सम्मान से देखा जाता था...बीजेपी जिम्मेदार है."

पीड़ितों को कोई नोटिस नहीं दिया गया था- थरूर

जहांगीरपुरी में बुलडोजर कार्रवाई को लेकर शशि थरूर ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि यथास्थिति बनाए रखी जानी चाहिए और कार्रवाई आगे नहीं बढ़ाने के लिए कहा, लेकिन उस आदेश के जारी होने के करीब दो घंटे बाद भी बुलडोजर कार्रवाई जारी रही. यह अवैध, मनमाना और असंवैधानिक है, क्योंकि पीड़ितों को कोई नोटिस नहीं दिया गया था."

उन्होंने कहा, "घरों और दुकानों को नष्ट कर दिया गया, यह एक बिल्कुल आपराधिक कृत्य है, जिसके लिए गंभीर कार्रवाई की जानी चाहिए. यह डराने-धमकाने की एक नई तकनीक है, जो हमारे देश को जलाने वाली है. यह भारत के संविधान के मूल्यों पर हमला है."

सुप्रीम कोर्ट कल करेगा मामले की सुनवाई

बता दें कि बुलडोजर कार्रवाई का अब ये मामला सुप्रीम कोर्ट में है. सुप्रीम कोर्ट 21 अप्रैल को मामले की सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एल नागेश्वर राव और बीआर गवई की बेंच जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान के मामले पर सुनवाई करेगी. इसे लेकर कई याचिकाकर्ताओं ने सुनवाई की मांग की थी. साथ ही कई बीजेपी शासित राज्यों में चल रही बुलडोजर की कार्रवाई के खिलाफ जमीयत उलेमा ए हिंद की याचिका पर भी सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा.

ये भी पढ़ें- 

'ये बुलडोजर देश के संविधान पर चल रहा है', जहांगीरपुर में MCD की कार्यवाही पर राहुल गांधी

Photos: रोते-बिलखते रहे लोग, रोजगार पर चलता रहा बुलडोजर, भावुक कर देंगी जहांगीरपुरी की ये तस्वीरें