मुकेश सहनी ने अमित शाह से पूछे सवाल, गृह मंत्री को बताना चाहिए कि तीन साल में पिछड़ों के लिए कितना काम हुआ

पटनाः बिहार के भोजपुर के दुलौर में आयोजित वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव के दौरान गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) द्वारा दिए गए एक बयान पर पूर्व मंत्री और वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी (Mukesh Sahani) बीजेपी पर प्रतिवार किया है. वीआईपी ने अमित शाह से पूछा है कि गृह मंत्री ये बताएं कि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग गठन के बाद तीन वर्ष में कितने पिछड़ों को लाभ हुआ? वीआईपी ने किया दावा- कोई काम नहीं हुआ पूर्व मंत्री मुकेश सहनी ने रविवार को कहा कि भले ही आयोग का अध्यक्ष भगवान लाल सहनी को बना दिया गया हो, लेकिन तीन साल के कार्यकाल में पिछड़ों के कल्याण के लिए कितना काम हुआ यह भी गृह मंत्री को बताना चाहिए. वीआईपी नेता ने दावे के साथ कहा कि पिछले तीन साल के दौरान पिछड़ों, अत्यंत पिछड़ों के लिए एक भी कल्याण के काम नहीं हुए और अध्यक्ष बने सहनी का कार्यकाल भी पूरा हो गया. यह भी पढ़ें- उत्तराखंड के बाद बिहार में लागू होगा कॉमन सिविल कोड? बीजेपी और JDU की राहें अलग! पढ़ें उपेंद्र कुशवाहा ने क्या कहा निषादों को बरगला कर वोट लेने का आरोप मुकेश सहनी ने कहा कि बीजेपी के नेता शुरू से लोगों को भ्रम में डालने की राजनीति कर सत्ता में बने रहना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि निषादों के आरक्षण को लेकर पिछले कई वर्षों से वीआईपी पार्टी आंदोलनरत रही है, लेकिन निषाद को बरगला कर वोट लेने वाली बीजेपी की सरकार ने अब तक सभी राज्यों में आरक्षण की व्यवस्था नहीं की, जिससे पूरे समाज में नाराजगी है. बता दें कि बीजेपी की ओर से दिए गए कई भी बयान को लेकर मुकेश सहनी जवाब देने का मौका नहीं छोड़ते हैं. यही वजह है कि हर बयान पर वे खुलकर अपनी बात रखते हैं. यह भी पढ़ें- Bihar News: देश का पहला जिला बना जहानाबाद जिसे पंचायती राज में बेहतर काम के लिए PM मोदी से मिले दो-दो पुरस्कार

मुकेश सहनी ने अमित शाह से पूछे सवाल, गृह मंत्री को बताना चाहिए कि तीन साल में पिछड़ों के लिए कितना काम हुआ

पटनाः बिहार के भोजपुर के दुलौर में आयोजित वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव के दौरान गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) द्वारा दिए गए एक बयान पर पूर्व मंत्री और वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी (Mukesh Sahani) बीजेपी पर प्रतिवार किया है. वीआईपी ने अमित शाह से पूछा है कि गृह मंत्री ये बताएं कि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग गठन के बाद तीन वर्ष में कितने पिछड़ों को लाभ हुआ?

वीआईपी ने किया दावा- कोई काम नहीं हुआ

पूर्व मंत्री मुकेश सहनी ने रविवार को कहा कि भले ही आयोग का अध्यक्ष भगवान लाल सहनी को बना दिया गया हो, लेकिन तीन साल के कार्यकाल में पिछड़ों के कल्याण के लिए कितना काम हुआ यह भी गृह मंत्री को बताना चाहिए. वीआईपी नेता ने दावे के साथ कहा कि पिछले तीन साल के दौरान पिछड़ों, अत्यंत पिछड़ों के लिए एक भी कल्याण के काम नहीं हुए और अध्यक्ष बने सहनी का कार्यकाल भी पूरा हो गया.

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड के बाद बिहार में लागू होगा कॉमन सिविल कोड? बीजेपी और JDU की राहें अलग! पढ़ें उपेंद्र कुशवाहा ने क्या कहा

निषादों को बरगला कर वोट लेने का आरोप

मुकेश सहनी ने कहा कि बीजेपी के नेता शुरू से लोगों को भ्रम में डालने की राजनीति कर सत्ता में बने रहना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि निषादों के आरक्षण को लेकर पिछले कई वर्षों से वीआईपी पार्टी आंदोलनरत रही है, लेकिन निषाद को बरगला कर वोट लेने वाली बीजेपी की सरकार ने अब तक सभी राज्यों में आरक्षण की व्यवस्था नहीं की, जिससे पूरे समाज में नाराजगी है. बता दें कि बीजेपी की ओर से दिए गए कई भी बयान को लेकर मुकेश सहनी जवाब देने का मौका नहीं छोड़ते हैं. यही वजह है कि हर बयान पर वे खुलकर अपनी बात रखते हैं.

यह भी पढ़ें- Bihar News: देश का पहला जिला बना जहानाबाद जिसे पंचायती राज में बेहतर काम के लिए PM मोदी से मिले दो-दो पुरस्कार