नोएडा में गाड़ी के सामने आया कुत्ता तो हुआ विवाद, दो अलग अलग समुदाय में पथराव, 10 लोग घायल

दिल्ली से सटे नोएडा के ऊंची दनकौर कस्बे में पिछले मंगलवार रात 9 बजे कथित तौर पर एक कुत्ते को लेकर हुए विवाद में दो पक्षों के बीच मारपीट और पथराव हुआ. इस घटना में करीब 10 लोग घायल भी हो गए हैं. पीड़ित बृजेश सैनी का कहना है कि आरोपियों ने घर के अंदर घुसकर औरतों से भी मारपीट की है. औरतों का भी आरोप है कि उन्हें पीठ पर और कमर पर गंभीर चोट आई है. पीड़ित बृजेश सैनी ने बताया कि वो रात 9:30 बजे अपनी दुकान से घर वापस आ रहे थे तो घर के पास हमेशा की तरह 25 से 30 लोग सड़क घेर कर बैठे थे. तभी एक कुत्ता गाड़ी के सामने आ गया. कुत्ते पर मेरी गाड़ी से टच भी नहीं हुआ था लेकिन वो लोग मुझे गाली देने लगे. मैंने अपने पापा को बुलाया. तो उनसे भी बहस होने लगी और अचानक से वो लोग ईट पत्थर फेंकने लगे. हमारे घर के 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. मेरे पिता की तीन जगह से पैर की हड्डी टूट गई. दो दिन उन्हें अस्पताल में गुजारने पड़े. मेरे चाचा को सर में गंभीर चोट आई है वो अभी भी आईसीयू में एडमिट हैं. कुत्ते को लेकर दो समुदायों में विवाद पीड़ित बृजेश सैनी ने बताया कि आरोपियों ने घर की औरतों के साथ भी मारपीट की है. उन्हें भी अंदरूनी चोटें आई हैं. हमने शर्म से पुलिस को नहीं बताया क्योंकि फिर मेडिकल कराने जाना पड़ता. इस घटना को 3 दिन बीत चुके हैं लेकिन बृजेश के घर के ठीक बाहर अभी भी खून के धब्बे देखे जा सकते हैं. बृजेश के पिता होशियार सैनी के पैर में प्लास्टर बंधा है. वॉकर की मदद से ही वो बड़ी मुश्किल से चल पा रहें हैं. वहीं बृजेश के बाकी घर वालों को भी चोटें आईं हैं और उनके हाथों में अभी भी पट्टी बंधी है. हालांकि दूसरे पक्ष ने सभी आरोपों से ना सिर्फ इंकार किया है बल्कि इनका आरोप है कि हमला दूसरी तरफ से किया गया था जिसमे इनके परिवार को गंभीर चोट आई है. और इन्हें पुलिस का भी साथ नहीं मिल रहा है. इस समुदाय का आरोप है कि जब इनके लोग पुलिस के पास तहरीर देने पहुंचे तो पुलिस ने इन्हीं के परिवार के तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पथराव में कई लोग हुए जख्मी दूसरे पक्ष के लोगों ने बताया कि हम लोगों ने बस इतना कहा था जब उसकी गाड़ी कुत्ते को लगी थी कि गाड़ी धीरे चलाओ तो वो कहने लगा कि अगर बच्चा भी आ जाएगा तो हम गाड़ी चढ़ा देंगे. इधर भी हिंदू लोग है, बगल में भी हिंदू है सामने भी हिंदू है. हम मुसलमान भी तो हिन्दू लोग से ही हैं. औरतों पर हमला किया है. हमने बृजेश को छुआ भी नहीं था वो अपनी गाड़ी अपने घर में ले जा कर खड़ा किया और फिर वही से पहले से इकट्ठा किए पत्थर से हम पर पत्थर मरने लगा. हमारे घर से सब नमाज पढ़ने गए थे. हमारे घर से रिपोर्ट करने गए थे तो हमारे बच्चों को थाने में हिरासत में ले लिया. पुलिस हमारी सुन नहीं रही है. हमारे घर के लोगों को चोट आई हैं. लड़कियों पर हमला किया गया है. उसकी हमसे जमीन को लेकर शुरू से दुश्मनी थी. पुलिस ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार ग्रेटर नोएडा के एडिशनल डीसीपी के मुताबिक मामले में बृजेश की शिकायत पर आकील, आरिफ ,रेहान, आरिफ सहित आधा दर्जन से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है. एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि दोनों पक्षों में मारपीट और पथराव हुआ. मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वांछित अभियुक्त को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. दूसरे पक्ष की तरफ से कोई घायल नहीं आया था. जिस पक्ष के लोग आए थे उसकी एफआईआर दर्ज की गई है. अगर किसी पक्ष का कोई चोटिल होता तो वो सामने आता और अपनी बात रखता. दो परिवार के बीच कुत्ते को लेकर मारपीट हुई है. इसमें किसी भी प्रकार का कोई भी धर्म का एंगल नहीं है. ये भी पढ़ें: एनसीपी के मुस्लिम कार्यकर्ता हनुमान जी का प्रसाद खाकर तोड़ेंगे रोजा, महाराष्ट्र में चल रहा है ये विवाद कश्मीरी पंडितों को मिली धमकी के विरोध में शिवसेना ने किया प्रदर्शन, सरकार से कड़ी कार्रवाई की मांग    

नोएडा में गाड़ी के सामने आया कुत्ता तो हुआ विवाद, दो अलग अलग समुदाय में पथराव, 10 लोग घायल

दिल्ली से सटे नोएडा के ऊंची दनकौर कस्बे में पिछले मंगलवार रात 9 बजे कथित तौर पर एक कुत्ते को लेकर हुए विवाद में दो पक्षों के बीच मारपीट और पथराव हुआ. इस घटना में करीब 10 लोग घायल भी हो गए हैं. पीड़ित बृजेश सैनी का कहना है कि आरोपियों ने घर के अंदर घुसकर औरतों से भी मारपीट की है. औरतों का भी आरोप है कि उन्हें पीठ पर और कमर पर गंभीर चोट आई है. पीड़ित बृजेश सैनी ने बताया कि वो रात 9:30 बजे अपनी दुकान से घर वापस आ रहे थे तो घर के पास हमेशा की तरह 25 से 30 लोग सड़क घेर कर बैठे थे. तभी एक कुत्ता गाड़ी के सामने आ गया. कुत्ते पर मेरी गाड़ी से टच भी नहीं हुआ था लेकिन वो लोग मुझे गाली देने लगे. मैंने अपने पापा को बुलाया. तो उनसे भी बहस होने लगी और अचानक से वो लोग ईट पत्थर फेंकने लगे. हमारे घर के 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. मेरे पिता की तीन जगह से पैर की हड्डी टूट गई. दो दिन उन्हें अस्पताल में गुजारने पड़े. मेरे चाचा को सर में गंभीर चोट आई है वो अभी भी आईसीयू में एडमिट हैं.

कुत्ते को लेकर दो समुदायों में विवाद

पीड़ित बृजेश सैनी ने बताया कि आरोपियों ने घर की औरतों के साथ भी मारपीट की है. उन्हें भी अंदरूनी चोटें आई हैं. हमने शर्म से पुलिस को नहीं बताया क्योंकि फिर मेडिकल कराने जाना पड़ता. इस घटना को 3 दिन बीत चुके हैं लेकिन बृजेश के घर के ठीक बाहर अभी भी खून के धब्बे देखे जा सकते हैं. बृजेश के पिता होशियार सैनी के पैर में प्लास्टर बंधा है. वॉकर की मदद से ही वो बड़ी मुश्किल से चल पा रहें हैं. वहीं बृजेश के बाकी घर वालों को भी चोटें आईं हैं और उनके हाथों में अभी भी पट्टी बंधी है. 
हालांकि दूसरे पक्ष ने सभी आरोपों से ना सिर्फ इंकार किया है बल्कि इनका आरोप है कि हमला दूसरी तरफ से किया गया था जिसमे इनके परिवार को गंभीर चोट आई है. और इन्हें पुलिस का भी साथ नहीं मिल रहा है. इस समुदाय का आरोप है कि जब इनके लोग पुलिस के पास तहरीर देने पहुंचे तो पुलिस ने इन्हीं के परिवार के तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

पथराव में कई लोग हुए जख्मी

दूसरे पक्ष के लोगों ने बताया कि हम लोगों ने बस इतना कहा था जब उसकी गाड़ी कुत्ते को लगी थी कि गाड़ी धीरे चलाओ तो वो कहने लगा कि अगर बच्चा भी आ जाएगा तो हम गाड़ी चढ़ा देंगे. इधर भी हिंदू लोग है, बगल में भी हिंदू है सामने भी हिंदू है. हम मुसलमान भी तो हिन्दू लोग से ही हैं. औरतों पर हमला किया है. हमने बृजेश को छुआ भी नहीं था वो अपनी गाड़ी अपने घर में ले जा कर खड़ा किया और फिर वही से पहले से इकट्ठा किए पत्थर से हम पर पत्थर मरने लगा. हमारे घर से सब नमाज पढ़ने गए थे. हमारे घर से रिपोर्ट करने गए थे तो हमारे बच्चों को थाने में हिरासत में ले लिया. पुलिस हमारी सुन नहीं रही है. हमारे घर के लोगों को चोट आई हैं. लड़कियों पर हमला किया गया है. उसकी हमसे जमीन को लेकर शुरू से दुश्मनी थी.

पुलिस ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा के एडिशनल डीसीपी के मुताबिक मामले में बृजेश की शिकायत पर आकील, आरिफ ,रेहान, आरिफ सहित आधा दर्जन से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है. एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि दोनों पक्षों में मारपीट और पथराव हुआ. मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वांछित अभियुक्त को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. दूसरे पक्ष की तरफ से कोई घायल नहीं आया था. जिस पक्ष के लोग आए थे उसकी एफआईआर दर्ज की गई है. अगर किसी पक्ष का कोई चोटिल होता तो वो सामने आता और अपनी बात रखता. दो परिवार के बीच कुत्ते को लेकर मारपीट हुई है. इसमें किसी भी प्रकार का कोई भी धर्म का एंगल नहीं है.

ये भी पढ़ें:

एनसीपी के मुस्लिम कार्यकर्ता हनुमान जी का प्रसाद खाकर तोड़ेंगे रोजा, महाराष्ट्र में चल रहा है ये विवाद

कश्मीरी पंडितों को मिली धमकी के विरोध में शिवसेना ने किया प्रदर्शन, सरकार से कड़ी कार्रवाई की मांग