कीव में रूसी सैनिकों की वापसी के बाद मिलीं 900 से ज्यादा लाशें, बूचा में दिखी बर्बरता

रूस यूक्रेन युद्ध का आज 52वां दिन है. इन 52 दिनों में रूस ने यूक्रेन के कई बड़े शहरों को तबाह कर दिया है. जिसमें से यूक्रेन की राजधानी कीव भी एक है. कीव में रूसी सेनाओं ने काफी दिनों तक गोलीबारी की. अब रूसी सेना की वापसी के बाद कीव इलाके में 900 से अधिक नागरिकों के शव बरामद किये गये हैं. क्षेत्रीय पुलिस प्रमुख ने शुक्रवार को पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी. कीव में क्षेत्रीय पुलिस बल के प्रमुख एंड्रीय नेबितोव ने कहा कि इन शवों को सड़कों पर खुला छोड़ दिया गया था या फिर इन्हें अस्थायी रूप से दफनाया दिया गया था. पुलिस ने बताया कि आंकड़े इस बात की ओर संकेत कर रहे हैं कि 95 प्रतिशत गोली लगने के कारण हुई है. मलबे के नीचे मिल रहे हैं शव एंड्रीय ने कहा, ‘‘ हम समझते हैं कि रूसी कब्जे के दौरान सड़कों पर लोगों की हत्याएं की गईं. उन्होंने कहा कि मारे गये नागरिकों के बरामद शवों की संख्या 900 को पार कर गई है, जिन्हें फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. उन्होंने कहा कि मलबे के नीचे और सामूहिक कब्रों में हर दिन शव मिल रहे हैं. बुचा में लोग सबसे ज्यादा पीड़ित हुए, जहां 350 से अधिक शव मिले हैं. एंड्रीय ने कहा कि रूसी सेना उन लोगों को ढूंढ़ रही थी जिन्होंने यूक्रेन समर्थक मजबूत विचारों को व्यक्त किया.  खार्किव में 500 से अधिक नागरिक मारे गए बता दें कि रूस के आक्रमण के बाद से खार्किव में 24 बच्चों सहित 500 से अधिक नागरिक मारे गए. खार्किव ओब्लास्ट के गवर्नर ओलेह सिनेहुबोव ने कहा कि रूस ने नागरिक क्षेत्रों पर गोलाबारी जारी रखी है, जिससे भारी नुकसान हुआ है. सिनेहुबोव के अनुसार, 14 अप्रैल को रूस ने कई रॉकेट लॉन्चरों और तोपखाने का उपयोग करते हुए, कम से कम 34 बार नागरिक बस्तियों पर हमला किया.  ये भी पढ़ें: यूक्रेन से युद्ध के बावजूद रूस ने भारत को एस-400 मिसाइल प्रणाली के पुर्जों की आपूर्ति की शुरू जम्मू कश्मीर में आतंकियों की फिर कायराना हरकत, बारामूला में सरपंच को मारी गोली

कीव में रूसी सैनिकों की वापसी के बाद मिलीं 900 से ज्यादा लाशें, बूचा में दिखी बर्बरता

रूस यूक्रेन युद्ध का आज 52वां दिन है. इन 52 दिनों में रूस ने यूक्रेन के कई बड़े शहरों को तबाह कर दिया है. जिसमें से यूक्रेन की राजधानी कीव भी एक है. कीव में रूसी सेनाओं ने काफी दिनों तक गोलीबारी की. अब रूसी सेना की वापसी के बाद कीव इलाके में 900 से अधिक नागरिकों के शव बरामद किये गये हैं. क्षेत्रीय पुलिस प्रमुख ने शुक्रवार को पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी.

कीव में क्षेत्रीय पुलिस बल के प्रमुख एंड्रीय नेबितोव ने कहा कि इन शवों को सड़कों पर खुला छोड़ दिया गया था या फिर इन्हें अस्थायी रूप से दफनाया दिया गया था. पुलिस ने बताया कि आंकड़े इस बात की ओर संकेत कर रहे हैं कि 95 प्रतिशत गोली लगने के कारण हुई है.

मलबे के नीचे मिल रहे हैं शव

एंड्रीय ने कहा, ‘‘ हम समझते हैं कि रूसी कब्जे के दौरान सड़कों पर लोगों की हत्याएं की गईं. उन्होंने कहा कि मारे गये नागरिकों के बरामद शवों की संख्या 900 को पार कर गई है, जिन्हें फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. उन्होंने कहा कि मलबे के नीचे और सामूहिक कब्रों में हर दिन शव मिल रहे हैं. बुचा में लोग सबसे ज्यादा पीड़ित हुए, जहां 350 से अधिक शव मिले हैं. एंड्रीय ने कहा कि रूसी सेना उन लोगों को ढूंढ़ रही थी जिन्होंने यूक्रेन समर्थक मजबूत विचारों को व्यक्त किया. 

खार्किव में 500 से अधिक नागरिक मारे गए

बता दें कि रूस के आक्रमण के बाद से खार्किव में 24 बच्चों सहित 500 से अधिक नागरिक मारे गए. खार्किव ओब्लास्ट के गवर्नर ओलेह सिनेहुबोव ने कहा कि रूस ने नागरिक क्षेत्रों पर गोलाबारी जारी रखी है, जिससे भारी नुकसान हुआ है. सिनेहुबोव के अनुसार, 14 अप्रैल को रूस ने कई रॉकेट लॉन्चरों और तोपखाने का उपयोग करते हुए, कम से कम 34 बार नागरिक बस्तियों पर हमला किया. 

ये भी पढ़ें:

यूक्रेन से युद्ध के बावजूद रूस ने भारत को एस-400 मिसाइल प्रणाली के पुर्जों की आपूर्ति की शुरू

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की फिर कायराना हरकत, बारामूला में सरपंच को मारी गोली