करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान ने तैनात किए खुफिया अधिकारी, जासूसी की हो रही कोशिश

भारत और पाकिस्तान के बीच खोले गए करतारपुर कॉरिडोर से लाखों श्रद्धालुओं को राहत मिली. अब सिख श्रद्धालु आसानी से पाकिस्तन में मौजूद करतारपुर साहिब के दर्शन करते हैं. लेकिन अब इस कॉरिडोर को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. जिसमें बताया गया है कि पाकिस्तान जासूसी के लिए इस गलियारे का फायदा उठा रहा है.  करतारपुर कॉरिडोर पर खुफिया अधिकारीसूत्रों के हवाले से बताया गया है कि, पाकिस्तान की तरफ से पवित्र करतारपुर साहिब गलियारे का इस्तेमाल गलत चीजों के लिए किया जा रहा है. करतारपुर कॉरिडोर पर पाक खुफिया एजेंसियों के अधिकारी मौजूद रहते हैं. साथ ही ये अधिकारी भारत से करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं से संपर्क कर जानकारी जुटाने की कोशिश भी कर रहे हैं.  बिजनेस बैठकों के लिए भी हो रहा इस्तेमालअब भारत की तरफ से करतारपुर साहिब कॉरिडोर के गलत इस्तेमाल पर ऐतराज भी जताया गया है. रोटरी क्लब के अधिकारियों की हाल ही में इसे लेकर बैठक हुई है, जिसमें इसका विरोध जताया गया. सूत्रों ने ये भी बताया है कि करतारपुर गलियारे का इस्तेमाल बिजनेस बैठकों के लिए भी किया जा रहा है. जबकि इस कॉरिडोर का मकसद सिर्फ और सिर्फ धार्मिक यात्रा करवाना है. इसके बावजूद बिजनेस बैठकों पर रोक नहीं लगाई जा रही. फिलहाल इस मामले पर भारत की तरफ से भी नजर रखी जा रही है.  ये भी पढ़ें -   Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी में एमसीडी बुलडोजर की एंट्री से लेकर सुप्रीम कोर्ट के स्टे के बाद भी बनी रही गहमागहमी, जानिए कब क्या हुआ जहांगीरपुरी में बुलडोजर और पुलिस की एकतरफा कार्रवाई को केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने नकारा, जानें क्या कुछ कहा

करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान ने तैनात किए खुफिया अधिकारी, जासूसी की हो रही कोशिश

भारत और पाकिस्तान के बीच खोले गए करतारपुर कॉरिडोर से लाखों श्रद्धालुओं को राहत मिली. अब सिख श्रद्धालु आसानी से पाकिस्तन में मौजूद करतारपुर साहिब के दर्शन करते हैं. लेकिन अब इस कॉरिडोर को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. जिसमें बताया गया है कि पाकिस्तान जासूसी के लिए इस गलियारे का फायदा उठा रहा है. 

करतारपुर कॉरिडोर पर खुफिया अधिकारी
सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि, पाकिस्तान की तरफ से पवित्र करतारपुर साहिब गलियारे का इस्तेमाल गलत चीजों के लिए किया जा रहा है. करतारपुर कॉरिडोर पर पाक खुफिया एजेंसियों के अधिकारी मौजूद रहते हैं. साथ ही ये अधिकारी भारत से करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं से संपर्क कर जानकारी जुटाने की कोशिश भी कर रहे हैं. 

बिजनेस बैठकों के लिए भी हो रहा इस्तेमाल
अब भारत की तरफ से करतारपुर साहिब कॉरिडोर के गलत इस्तेमाल पर ऐतराज भी जताया गया है. रोटरी क्लब के अधिकारियों की हाल ही में इसे लेकर बैठक हुई है, जिसमें इसका विरोध जताया गया. सूत्रों ने ये भी बताया है कि करतारपुर गलियारे का इस्तेमाल बिजनेस बैठकों के लिए भी किया जा रहा है. जबकि इस कॉरिडोर का मकसद सिर्फ और सिर्फ धार्मिक यात्रा करवाना है. इसके बावजूद बिजनेस बैठकों पर रोक नहीं लगाई जा रही. फिलहाल इस मामले पर भारत की तरफ से भी नजर रखी जा रही है. 

ये भी पढ़ें - 

 Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी में एमसीडी बुलडोजर की एंट्री से लेकर सुप्रीम कोर्ट के स्टे के बाद भी बनी रही गहमागहमी, जानिए कब क्या हुआ

जहांगीरपुरी में बुलडोजर और पुलिस की एकतरफा कार्रवाई को केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने नकारा, जानें क्या कुछ कहा