इस महीने भारत दौरे पर आएंगी यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष, पीएम मोदी के साथ होगी द्विपक्षीय वार्ता

यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन 24 अप्रैल से दो दिवसीय यात्रा पर भारत आएंगी. विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी. मंत्रालय के बयान के अनुसार, यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष के रूप में यह उनकी (लेयेन की) पहली भारत यात्रा होगी. इस दौरान उनका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता का कार्यक्रम है. इसके अलावा वह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व अन्य नेताओं से भी मुलाकात करेंगी. बयान में कहा गया है कि यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष को इस साल के रायसीना डायलॉग के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया है और वह 25 अप्रैल को अपना संबोधन देंगी. विदेश मंत्रालय के अनुसार, भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) के बीच जीवंत रणनीतिक साझीदारी है, जो राजनीतिक एवं सामरिक क्षेत्र, कारोबार एवं वाणिज्य, जलवायु क्षेत्र से लेकर डिजिटल एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में मजबूती से बढ़ रहा है और प्रगाढ़ हो रहा है. बहुआयामी गठजोड़ को और प्रगाढ़ करने में मदद मिलेगी इसमें कहा गया है कि मई 2021 में भारत और यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक में कारोबार वार्ता शुरू करने और भारत-ईयू संपर्क गठजोड़ पेश करने के निर्णय से नया मील का पत्थर स्थापित हुआ. मंत्रालय ने कहा कि यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष की आसन्न यात्रा से ईयू के साथ संबंधों की प्रगति की समीक्षा करने का अवसर मिलेगा और बहुआयामी गठजोड़ को और प्रगाढ़ करने में मदद मिलेगी. वहीं, मई के पहले हफ़्ते में पीएम मोदी तीन देशों के यूरोप दौरे पर होंगे. साल 2022 के इस अपने पहले विदेश दौरे में पीएम मोदी जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस यात्रा पर जाएंगे. पीएम की इस यूरोप यात्रा के एजेंडा में द्विपक्षीय संबंधों से लेकर क्षेत्रीय समीकरणों और व्यापार-निवेश तक कई अहम मुद्दे हैं. ये भी पढ़ें- यूरोप के साथ भारत का शिखर संवाद, अगले महीने इन तीन देशों के दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी Jahangirpuri Violence: आदेश गुप्ता पर AAP का पलटवार, कहा- सिर्फ बीजेपी को होता है दंगों का फायदा, पुलिस ने नहीं की ठोस कार्रवाई

इस महीने भारत दौरे पर आएंगी यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष, पीएम मोदी के साथ होगी द्विपक्षीय वार्ता

यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन 24 अप्रैल से दो दिवसीय यात्रा पर भारत आएंगी. विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी. मंत्रालय के बयान के अनुसार, यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष के रूप में यह उनकी (लेयेन की) पहली भारत यात्रा होगी. इस दौरान उनका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता का कार्यक्रम है. इसके अलावा वह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व अन्य नेताओं से भी मुलाकात करेंगी.

बयान में कहा गया है कि यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष को इस साल के रायसीना डायलॉग के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया है और वह 25 अप्रैल को अपना संबोधन देंगी. विदेश मंत्रालय के अनुसार, भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) के बीच जीवंत रणनीतिक साझीदारी है, जो राजनीतिक एवं सामरिक क्षेत्र, कारोबार एवं वाणिज्य, जलवायु क्षेत्र से लेकर डिजिटल एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में मजबूती से बढ़ रहा है और प्रगाढ़ हो रहा है.

बहुआयामी गठजोड़ को और प्रगाढ़ करने में मदद मिलेगी

इसमें कहा गया है कि मई 2021 में भारत और यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक में कारोबार वार्ता शुरू करने और भारत-ईयू संपर्क गठजोड़ पेश करने के निर्णय से नया मील का पत्थर स्थापित हुआ. मंत्रालय ने कहा कि यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष की आसन्न यात्रा से ईयू के साथ संबंधों की प्रगति की समीक्षा करने का अवसर मिलेगा और बहुआयामी गठजोड़ को और प्रगाढ़ करने में मदद मिलेगी.

वहीं, मई के पहले हफ़्ते में पीएम मोदी तीन देशों के यूरोप दौरे पर होंगे. साल 2022 के इस अपने पहले विदेश दौरे में पीएम मोदी जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस यात्रा पर जाएंगे. पीएम की इस यूरोप यात्रा के एजेंडा में द्विपक्षीय संबंधों से लेकर क्षेत्रीय समीकरणों और व्यापार-निवेश तक कई अहम मुद्दे हैं.

ये भी पढ़ें-

यूरोप के साथ भारत का शिखर संवाद, अगले महीने इन तीन देशों के दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी

Jahangirpuri Violence: आदेश गुप्ता पर AAP का पलटवार, कहा- सिर्फ बीजेपी को होता है दंगों का फायदा, पुलिस ने नहीं की ठोस कार्रवाई