अफगान मस्जिद ब्लास्ट के संदिग्ध ISIS ‘मास्टरमाइंड’ को तालिबान ने किया गिरफ्तार, कई आतंकी हमलों में रहा है शामिल

काबुल: तालिबान बलों ने एक संदिग्ध आईएसआईएस आतंकवादी को गिरफ्तार किया है, जिसने अफगानिस्तान में एक शिया मस्जिद में बम हमले की योजना बनाई थी, जिसमें कम से कम 12 उपासक मारे गए थे. पुलिस ने शुक्रवार को कहा. आईएसआईएस ने गुरुवार को उत्तरी शहर मजार-ए-शरीफ में दोपहर की नमाज के दौरान सेह डोकान मस्जिद में हुए बम विस्फोट की जिम्मेदारी ली थी. इस हमले में 58 लोग घायल भी हुए थे. गिरफ्तार शख्स आईएसआईएस का प्रमुख ऑपरेटिवन्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक बल्ख प्रांत के पुलिस प्रवक्ता आसिफ वजीरी ने कहा कि गिरफ्तार शख्स अब्दुल हमीद संगयार आईएसआईएस का प्रमुख ऑपरेटिव है. उन्होंने कहा, "यह मस्जिद पर कल हुए हमले का मास्टरमाइंड है." वजीरी ने कहा, " संगयार ने अतीत में कई हमलों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और बार-बार भागने में सफल रहा था, लेकिन इस बार हमने उसे एक विशेष अभियान में गिरफ्तार कर लिया." आईएसआईएस ने गुरुवार को एक अन्य उत्तरी शहर कुंदुज में एक अलग बम हमले की भी जिम्मेदारी ली जिसमें चार लोग मारे गए और 18 लोग घायल हो गए. शिया समुदाय पर हमले कर रहा है आईएसआईएसआईएसआईएस ने अफगानिस्तान में अक्सर शिया समुदाय के खिलाफ घातक हमलों की जिम्मेदारी ली है. शिया अफगान ज्यादातर हजारा जातीय समुदाय से हैं और देश के 38 मिलियन लोगों में से 10 से 20 प्रतिशत के बीच हैं. वे लंबे समय से ISIS के निशाने पर हैं, जो उन्हें विधर्मी मानते हैं. इस हफ्ते की शुरुआत में काबुल के पड़ोस में शिया बहुल इलाके में लड़कों के स्कूल में हुए दोहरे विस्फोटों में कम से कम छह लोग मारे गए थे. हालांकि अभी तक किसी भी समूह ने इस हमले का दावा नहीं किया है. तालिबान के दावे पर उठ रहे सवाल तालिबान अधिकारियों का कहना है कि उनकी सेना ने आईएसआईएस को हरा दिया है, लेकिन विश्लेषकों का कहना है कि जिहादी ग्रुप सुरक्षा के लिए एक प्रमुख चुनौती बना हुआ है. तालिबान ने नियमित रूप से आईएसआईएस के संदिग्ध ठिकानों पर छापे मारे हैं. यह भी पढ़ें: Pakistan: पाक सरकार पर बरसे इमरान खान, बोले- हमें न गुलामी कबूल है, न ही घोटाले वाली हुकुमत Explained: क्या है रूस की नई परमाणु मिसाइल 'Sarmat ICBM', जानिये 15 एटम बम वाली सरमत के बारे में सबकुछ

अफगान मस्जिद ब्लास्ट के संदिग्ध ISIS ‘मास्टरमाइंड’ को तालिबान ने किया गिरफ्तार, कई आतंकी हमलों में रहा है शामिल

काबुल: तालिबान बलों ने एक संदिग्ध आईएसआईएस आतंकवादी को गिरफ्तार किया है, जिसने अफगानिस्तान में एक शिया मस्जिद में बम हमले की योजना बनाई थी, जिसमें कम से कम 12 उपासक मारे गए थे. पुलिस ने शुक्रवार को कहा.

आईएसआईएस ने गुरुवार को उत्तरी शहर मजार-ए-शरीफ में दोपहर की नमाज के दौरान सेह डोकान मस्जिद में हुए बम विस्फोट की जिम्मेदारी ली थी. इस हमले में 58 लोग घायल भी हुए थे.

गिरफ्तार शख्स आईएसआईएस का प्रमुख ऑपरेटिव
न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक बल्ख प्रांत के पुलिस प्रवक्ता आसिफ वजीरी ने कहा कि गिरफ्तार शख्स अब्दुल हमीद संगयार आईएसआईएस का प्रमुख ऑपरेटिव है. उन्होंने कहा, "यह मस्जिद पर कल हुए हमले का मास्टरमाइंड है."

वजीरी ने कहा, " संगयार ने अतीत में कई हमलों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और बार-बार भागने में सफल रहा था, लेकिन इस बार हमने उसे एक विशेष अभियान में गिरफ्तार कर लिया."

आईएसआईएस ने गुरुवार को एक अन्य उत्तरी शहर कुंदुज में एक अलग बम हमले की भी जिम्मेदारी ली जिसमें चार लोग मारे गए और 18 लोग घायल हो गए.

शिया समुदाय पर हमले कर रहा है आईएसआईएस
आईएसआईएस ने अफगानिस्तान में अक्सर शिया समुदाय के खिलाफ घातक हमलों की जिम्मेदारी ली है. शिया अफगान ज्यादातर हजारा जातीय समुदाय से हैं और देश के 38 मिलियन लोगों में से 10 से 20 प्रतिशत के बीच हैं. वे लंबे समय से ISIS के निशाने पर हैं, जो उन्हें विधर्मी मानते हैं.

इस हफ्ते की शुरुआत में काबुल के पड़ोस में शिया बहुल इलाके में लड़कों के स्कूल में हुए दोहरे विस्फोटों में कम से कम छह लोग मारे गए थे. हालांकि अभी तक किसी भी समूह ने इस हमले का दावा नहीं किया है.

तालिबान के दावे पर उठ रहे सवाल
तालिबान अधिकारियों का कहना है कि उनकी सेना ने आईएसआईएस को हरा दिया है, लेकिन विश्लेषकों का कहना है कि जिहादी ग्रुप सुरक्षा के लिए एक प्रमुख चुनौती बना हुआ है. तालिबान ने नियमित रूप से आईएसआईएस के संदिग्ध ठिकानों पर छापे मारे हैं.

यह भी पढ़ें:

Pakistan: पाक सरकार पर बरसे इमरान खान, बोले- हमें न गुलामी कबूल है, न ही घोटाले वाली हुकुमत

Explained: क्या है रूस की नई परमाणु मिसाइल 'Sarmat ICBM', जानिये 15 एटम बम वाली सरमत के बारे में सबकुछ